Difference Independence Day And Republic Day हिंदी में

Last Updated on 2 years ago

difference between independence day and republic day in hindi

Difference-between-Independence-day-and-republic-day

Let’s start the topic difference independence day and republic day

बहुत सारे लोग 15 अगस्त और 26 जनवरी को लेकर काफी कंफ्यूजन में रहता है। की आखिर दोनों में अंतर क्या है। क्योंकि 15 अगस्त और 26 जनवरी दोनों ही दिन झंडा तोलन किया जाता है। और हम दोनों ही दिन अपना राष्ट्रीय त्योहार को सेलिब्रेट करते हैं।

 

 

why we celebrate independence day in hindi

Independence day 15 अगस्त हम इसलिए मनाते हैं क्योंकि आज के ही दिन हम अंग्रेज की गुलामी के जंजीरों से सैकड़ों साल बाद मुक्त हुए थे। आज के दिन कार्यालय ऑफिस दफ्तर स्कूल कॉलेज सरकारी संस्था प्राइवेट संस्थान सभी जगहों पर झंडा तोलन किया जाता है।

 

आज के दिन सर्वप्रथम देश के प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किला पर झंडे को सलामी देते हैं। और फिर संपूर्ण देशवासियों को संबोधन करते हैं। और फिर देश की सेनाओं के द्वारा 31 तोपों की सलामी दी जाती है।

 

15 अगस्त के दिन हम सब देशवासियों तिरंगे झंडे के नीचे एकत्रित होकर उन तमाम महापुरुषों को याद करते हैं और उन्हें नमन करते हैं। जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

 

स्वतंत्र भारत का प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को चुना गया था।

15 अगस्त के दिन सर्वप्रथम देश के प्रधानमंत्री के द्वारा दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराया जाता है उसके बाद देश के तमाम निजी और सार्वजनिक जगहों पर झंडा फहराया जाता है 15 अगस्त हमारा देश का राष्ट्रीय त्योहार है।

why we celebrate republic day in hindi

Republic day 26 जनवरी आज ही के दिन देश के अंदर संविधान लागू हुआ था जिसका निर्माण में 2 साल 11 महीना 18 दिन का समय लगा था। 15 अगस्त 1947 को जब हमारा देश से अंग्रेज विदा हो रहे थे। तो वह जाते जाते अपनी नियम कानून की सारी व्यवस्था को अपने साथ लेकर चले गए। ऐसे में देश के सामने एक बहुत बड़ी समस्या सामने खड़ी हो गई की इतनी बड़ी आबादी वाला देश को बिना नियम कानून के चलाना कैसे संभव होगा। और फिर बाबा भीमराव अंबेडकर की सहायता से एक लिखित नियम कानून व्यवस्था बनाई गई और उसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया और फिर संपूर्ण देशवासियों को पहली बार मत देने का अधिकार मिला और वह स्वतंत्र पूर्वक अपना नेता का चुनाव कर सकता था

 

आजादी तो हमें 15 अगस्त 1947 को ही मिल गई थी लेकिन संपूर्ण आजादी हमें 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के बाद ही मिली जिसके अंतर्गत हमारे मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए कई नियम कानून बनाए गए।

 

संविधान लागू होने के पश्चात संपूर्ण देश अखंड भारत के सूत्र में बंध गया और एक राष्ट्र, एक ही झंडा और एक ही कानून संपूर्ण देश में लागू हुआ।

 

26 जनवरी को देश के प्रथम नागरिक माननीय राष्ट्रपति महोदय जी के द्वारा देश की राजधानी नई दिल्ली में झंडा तोलन का भव्य समारोह का आगाज किया जाता है। और फिर राष्ट्रपति जी के द्वारा झंडे को सलामी दी जाती है।

 

गणतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद को चुना गया था जोकि एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे।

 

26 जनवरी के दिन माननीय राष्ट्रपति जी के द्वारा सर्वप्रथम देश की राजधानी दिल्ली में झंडा फहराया जाता है उसके बाद देश के तमाम जगहों पर झंडा तोलन किया जाता है।

 

कुछ महत्वपूर्ण अंतर 26 जनवरी और 15 अगस्त में 

difference between independence day and republic day flag ceremonyDifference-between-Independence-day-and-republic-day

15 अगस्त 1947 को हमारा देश जब आजाद हुआ था देश का पहला प्रधानमंत्री के रूप में पंडित जवाहरलाल नेहरू को चुना गया था।

 

26 जनवरी 1950 को जब हमारा देश में संविधान लागू हुआ था देश के प्रथम नागरिक के रूप में राष्ट्रपति पद को सुशोभित किया गया और देश का पहला राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद को चुना गया।

 

15 अगस्त को प्रधानमंत्री जी के द्वारा दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराया जाता है जबकि 26 जनवरी को माननीय राष्ट्रपति जी के द्वारा राजपथ पर झंडा फहराया जाता है।

 

15 अगस्त पर किसी भी देश के राष्ट्रीय स्तर के नेता को अतिथि के रूप में नहीं बुलाया जाता है। जबकि 26 जनवरी को अलग-अलग देशों से राष्ट्रीय स्तर के नेता को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया जाता है।

 

26 जनवरी के दिन माननीय राष्ट्रपति जी के द्वारा पदम राष्ट्रीय पुरस्कार का वितरण किया जाता है। जबकि 15 अगस्त के दिन कोई पुरस्कार वितरित नहीं किया जाता है।

 

15 अगस्त का झंडा तोलन का समारोह 15 अगस्त को ही खत्म हो जाता है। जबकि 26 जनवरी का झंडा तोलन समारोह 29 तारीख तक चलता है। इसमें कई कार्यक्रम शामिल है और माननीय राष्ट्रपति जी को तथा पुरस्कार वितरित किया जाता है।

 

15 अगस्त के दिन झंडा को नीचे बंधा  जाता है जिसे माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा झंडा को ऊपर खींच कर फहराया जाता है जबकि 26 जनवरी के दिन झंडा को ऊपर बांधा जाता है और फिर माननीय राष्ट्रपति जी के द्वारा धागा खींचकर फहराया जाता है 

independence day meaning in hindi

Independence day का मतलब होता है. स्वतंत्रता दिवस जिसे हम 15 अगस्त को सेलिब्रेट करते हैं।

republic day meaning in hindi

Republic day का मतलब होता है. गणतंत्रता दिवस जिसे हम 26 जनवरी को सेलिब्रेट करते हैं।

I hope guys you love this article difference independence day and republic day

 

इसे भी पढ़ें

 

26 जनवरी पर भाषण

15 अगस्त पर भाषण

मेरा भारत महान है पर स्पीच

लेखक के बारे में

  • Princi Soni

    I have been writing for the Apna Kal for a few years now and I love it! My content has been Also published in leading newspapers and magazines.

अपने दोस्तों को शेयर करें !!

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status