Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की 5-6 कहानियां

Last Updated on 2 years ago

 

Akbar Birbal Story In Hindi

Let’s start the story 

अकबर कौन था ? – अकबर मुग़ल सल्तनत का बादशाह था 

बीरबल कौन था ? – बीरबल अकबर की सभी नवरत्न दरबारी में से सबसे अधिक चापलूस और प्रसिद्ध विद्वान था । जो की अकबर के  सभी दरबारी में सबसे प्रिये था । 

 

akbar birbal story in hindi

अकबर बीरबल की कहानियां

    दो मुर्गे का तोहफा 

     दो गधों का बोझ 

     दाढ़ी का बाल 

     सबसे बड़ा मुर्ख कौन ? 

     खोजा के तीन सवाल 

 

दो मुर्गे का तोहफा 

Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की प्रसिद्ध कहानी

जैसे की हम सब जानते है की बादशाह अकबर और बीरबल के बीच नोक झोक तो चलते ही रहते थे।  

एक अवसर पर बीरबल ने अकबर से शाही फरमान हासिल कर लिया जो व्यक्ति अपनी बीवी से डरता हो , उसकी बात साबित होने पर बीरबल को एक मुर्गा बतौर तोहफा देना होगा।  कुछ दिनों बाद बीरबल ढेर सारे मुर्गे एकत्र किये हुए महल लौटे और बादशाह से कहा – हुजूरे आली , अब मैं मुर्गे जमा करते – करते थक गया हूँ -कृपया अपना यह आदेश वापस ले लीजिये।  

बादशाह बोले – कमान से निकला तीर की तरह अब यह तीर भी निकल चूका है , कोई और बात कीजिये – जैसे हुक्म अलामपानह।  

बीरबल – एक खास खबर हैं पड़ोस के हुकूमत में एक शहजादी एकदम परी चेहरा   हैं – हर तरह से आपके योग्य है।  आप उनसे विवाह कर लें।  

अकबर – अकबर ने झिझकर इधर उधर देखा – फिर बोले – अमा धीरे बोलो जनानेखाने में एक नहीं दो दो हैं। …… . . 

बीरबल – बीरबल ने झट से कहा -लीजिये आपको तो दो मुर्गे का तोहफा देना होगा।  अकबर की दो बीबियां थी।  यह सुनकर अकबर झेंप गये

 

 

दो गधों का बोझ 

Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की प्रसिद्ध कहानी

फरवरी महीने की प्रातः को बादशाह अकबर उनका पुत्र सलीम और बीरबल  सैर को  निकले।  टहलते – टहलते खाफी दूर निकल गये। 

वापस लौटते समय , सूर्य जब काफी ऊपर  चढ़ आया , तो बादशाह ने अपना भारी  लिबास , गर्मी की वजह से उतारकर बीरबल की ओर बढ़ा दिया।  बाप की देखा-देखी बेटे ने भी  वैसा ही किया।

अब बीरबल के ऊपर दो लिबास का बोझ हो गया था।  अकबर जब बीरबल की तरफ देखा , तो उसे मजाक का एक तरकिफ सुझा, और अकबर बीरबल से बोल ही दिया।  बीरबल अब तो तुम्हारे ऊपर एक गधे का बोझ गया।  

बीरबल ने उत्तर दिया – जहांपनाह , एक गधे का नहीं बल्कि दो गधों का बोझ हो गया है।  

उत्तर सुनकर बादशाह बोलते है – बीरबल तुम सुधरने वाले नहीं हो।

दाढ़ी का बाल 

Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की प्रसिद्ध कहानी

एक दिन दरबारियों के बीच बात विवाद  चल रहा था।  बादशाह अकबर बैठ कर सबकी बातों में रूचि ले रहा था।  

तभी मुल्ला दो प्याजा ने – बीरबल को निचा दिखाने के इरादे से बादशाह से कहा – हुजूर आप बीरबल के बुद्धिमता की बड़ी प्रशंसा करते है।  मै साधारण सा एक सवाल पूछना चाहता हूँ।  अगर आपकी इजाजत हो तो।  

बादशाह बोले – इजाजत है।  …… 

मुल्ला दो प्याजा- हुजूर बीरबल साहब का हाथ इनकी पत्नी के हाथ से एकाध दफा रोजाना ही स्पर्श होता होगा।  तो क्या बीरबल साहब बता सकते है की उनकी पत्नी के हाथ में कितनी चूड़ियाँ हैं।  

बीरबल यह सुनकर बड़े असमंजस में पड़ गये।  उन्होंने कभी यह सोचा भी नहीं था की कोई उनसे उनकी पत्नी के हाथों के चूड़ियों के गिनती भी पूछ सकता है।  

बीरबल – बीरबल झूठ नहीं बोलना चाहता था।  और फिर सवालो का जवाब भी देना जरुरी था।  

बीरबल बोले – जहांपनाह ! मेरा हाथ तो अपनी पत्नी से दिन में एकाध बार ही स्पर्श होता होगा। 

लेकिन मुल्ला जी का हाथ  तो अपनी दाढ़ी से दिन में दस-बीस बार तो अवश्य ही स्पर्श होता होगा 

भला ये ही बता दे की उनकी दाढ़ी में कितने बाल है ? मैं अपना हार स्वीकार कर लूंगा।  

मुल्ला दो प्याजा – गरदन निचे कर सोचने  लगा भला अपने दाढ़ी का बाल कौन गिनता है।  

बीरबल की जवाब सुनकर सभी दरबारी हसने लगे।

 

  

सबसे बड़ा मुर्ख कौन ? 

Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की प्रसिद्ध कहानी

बादशाह ने बीरबल को हुक्म दिया की देश के मूर्खो की सूची बनाकर मेरे सामने लायी जाय।  संयोग से बादशाह ने जिस दिन  यह अजीब सा हुक्म दिया।  उसी दिन अरब देश का एक व्यापारी कुछ अरबी घोड़े के साथ बादशाह के पास आया।  बादशाह को घोड़े बहुत पसंद आया और उसने वैसे ही दो सौ घोड़े का ओर सौदा कर लिया।  और खुश होकर बादशाह ने उसे एक हजार स्वर्ण मुद्रा घोड़े के लिए दे दिया।  व्यापारी चला गया।  

कुछ दिनों बाद बीरबल मूर्खो की सूची लेकर आये।  बादशाह ने सबसे ऊपर अपना नाम लिखा देखकर पूछा – बीरबल यह बदतिमीजी है ? सबसे बड़ा मुर्ख मै कैसे हुआ? 

बीरबल ने बताया – उस दिन आपने घोड़े की व्यापारी को एक हजार स्वर्ण मुद्रा दे दिया।  आपने उसका नाम पता तक नहीं जाना था।  न ही  कोई उसे पहचानता था। और न आपने जमानत में उनसे कुछ लिया।  यह मूर्खतापूर्ण कार्य ही तो था।  अब आपको ये मान कर ही चलना चाहिए की वो व्यापारी आपका एक हजार स्वर्ण मुद्रा लेकर चम्पत हो गया।  , और वह लोट कर नहीं आने वाला है।  

बादशाह को अपने गलती का एहसास हो गया।  लेकिन फिर भी उसने बीरबल के सामने एक तर्क रखा – 

मान लो बीरबल वो घोड़ा लेकर आ गया तो। …. .

बीरबल तुरंत बोला – तब मै आपका नाम काटकर उसका नाम लिख दूंगा।  बादशाह हंसे बगैर रह न सका।  

 

 

खोजा के तीन सवाल 

Akbar Birbal Story In Hindi अकबर बीरबल की प्रसिद्ध कहानी

बादशाह अकबर के राजमहल में एक मुंह लगा बुद्धिमान खोजा ( हिजरा ) था।  उसका काम जनानखाने की देख रेख करना  था।  

बेगमों के साथ वो भी परदे की औट से  बीरबल की बुद्धिमानी का बातें सुनता रहता था।  और मन ही  मन जलता रहता था।  बादशाह का मुंह लगा होने के कारन एक दिन उसने बादशाह से कहा की वह बीरबल से तीन सवालों का उत्तर चाहता है।  – 

खोजा एक हिजरा था।  उसने कहा – यदि बीरबल उसके उत्तर दे  सके तो उनकी बुद्धिमती स्वीकार कर लेगा।  

बादशाह ने उसे इजाजत दे दी।  

खोजा ने दरबार में उपस्थित होकर , सबके सामने बीरबल से तीन सवाल पूछा ? 

1 जमीन का बीच कहा है ,? 2 अकाश में कितने तारे है ? 3 जमीन पर कितने मर्द है? 

उनके प्रश्न सुनकर बीरबल मन ही मन मुस्कुराये।  सोचा जैसे प्रश्न वैसा उत्तर भी होना चाहिए 

बीरबल उत्तर देने के लिए खारे हुए – और एक -एक करके सवाल का जवाब देना शुरू किया।  

पहला प्रश्न का उत्तर यह है – बीरबल थोड़ा दो कदम खिसकर जमीन पर पैर मारते हुवे कहा – जमीन का बीच  यहां है।  अगर खोजा को यकीन नहीं है तो वह नाप तोल कर देख सकता है।  

खोजा चुप रहा।  — उसके बस की बात कहा था की वो जमीन का  नाप तोल कर सके।  

दूसरा प्रश्न का उत्तर यह है की – खोजा के सिर में जितना बाल है।  आकाश में उतने तारे हैं , अगर खोजा को यकीन न हो तो वो अपने सर के बाल मुंडवा कर गिनवा ले और उसके बाद तारों का गणना करवा ले।  एक भी कम या ज़्यदा नाहीज होगा।  

खोजा इस बार अगल बगल झाकने लगा।  भला सर का बाल मुंडवाना और फिर गिनवाना उसके बस की बात कहा थी।  

तीसरा प्रश्न का उत्तर जमीन पर कितने मर्द है का उत्तर यह है की  –  जहांपनाह मै कई बार जमीन पर मर्दो की गणना करने की कोशिश की , पर मर्द और औरत के बीच के इन हिजड़ों की वजह से हमेशा गिनती में फर्क आ जाता। – आज तक तय नहीं हो पाया की इन बीच के लोगों को किस गिनती में रखा जाय।  औरत या मर्द? जहांपनाह आप  अगर इस धरती के सभी हिजड़ो को मरवा दे तो सही गिनती हो जाएगी।  

बीरबल का बात पूरी होनी ही थी की हिजड़ा अपना मुंह छुपकर जनानखाने की और भाग गया।   

I hope guys you love this story

इससे सम्बंधित कहानी पढ़े

अकबर बीरबल की और भी कहानी 

प्रेम के लिए समर्पण कितना आवश्यक है 

एक सच्ची प्रेम कथा जो दिल में हलचल सा मचा देता है 

सम्पूर्ण भारत का इतिहास 

लेखक के बारे में

  • Princi Soni

    I have been writing for the Apna Kal for a few years now and I love it! My content has been Also published in leading newspapers and magazines.

अपने दोस्तों को शेयर करें !!

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status