व्यक्ति की मौत के बाद पैन कार्ड आधार कार्ड और वोटर आईडी का क्या करें? जान लें वरना हो सकती है दिक्कत

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं कि व्यक्ति के मौत के बाद आधार, पैन और बाकि दस्तावेजों का क्या करना चाहिए जैसा की हम सभी जानते हैं जीवित रहते व्यक्ति के पास आधार पैन या वोटर आईडी का होना बहुत आवश्यक है परन्तु क्या आपने कभी सोचा है कि व्यक्ति के मरने के बाद उसके आधार, पैन और वोटर आईडी का क्या करना चाहिए अगर नहीं तो यह यह लेख आपके लिए ही है ताकि आपको पता हो सके की मरने के बाद व्यक्ति के भारतीय दस्तावेजों का क्या करना चाहिए ?

यहाँ पर हम एक-एक करके भारतीय दस्तावेजों के बारे में बतायंगे की कौन से दस्तावेजों को आप किस तरह से ब्लॉक करवाना है या सरेंडर करना है जिससे इनके गलत उपयोग को रोका जा सकता है इसलिए इस लेख को आप पूरा पढ़ें।

आधार कार्ड 

किसी व्यक्ति की मौत होने के बाद उसके आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल नहीं हो, इसके लिए सबसे पहले आपको UIDAI को सूचित कर दें, क्योंकि अक्सर हम आधार कार्ड को बहुत ही जगहों पर वेरिफिकेशन के तौर पर जमा कर देते हैं इसलिए उसका आईडी प्रूफ के तौर पर गलत इस्तेमाल न हो इससे बचने के लिए व्यक्ति की मौत के बाद आपको व्यक्ति का आधार कार्ड लॉक करवा देना चाहिए।

ऐसा करना बहुत ही आसान है आप अपने नजदीकी आधार केंद्र पर जाकर ये काम करवा सकते हैं। इसके लिए आपको मृत व्यक्ति का मृत्यु प्रमाण पत्र साथ ले जाना अनिवार्य है।

इसे भी पढ़ें – मोबाइल नंबर से आधार कार्ड कैसे निकाले 

पैन कार्ड 

किसी व्यक्ति की मौत के बाद पैन कार्ड को सरेंडर करना होता है इसके लिए आप या तो खुद से पैन कार्ड पोर्टल पर जाकर इस प्रक्रिया को पूर्ण कर सकते हैं या फिर आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में संपर्क करना होगा जहाँ पर पैन कार्ड को ब्लॉक कर दिया जाएगा और कोई भी उसका उपयोग नहीं कर पाएगा। इसके लिए आपको मृत व्यक्ति का मृत्यु प्रमाण पत्र साथ ले जाना अनिवार्य है।

इसे भी पढें – आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कैसे चेक करें

पासपोर्ट 

इन सभी की तरह पासपोर्ट को रद्द करने या जमा करने की कोई योजना नहीं है परन्तु पासपोर्ट एक समय सीमा के साथ चलता है तो जब पासपोर्ट का समय सीमा समाप्त हो जायगी तो यह स्वतः ही अमान्य हो जाता है। इसके लिए आपको मृत व्यक्ति का पासपोर्ट संभालकर रखना होगा ताकि उसका उपयोग किसी गलत काम में न हो सके।

वोटर आईडी 

किसी व्यक्ति के मृत्यु के बाद उसके वोटर आई़डी को आपको अपने नजदीकी चुनाव कार्यालय में जाकर फॉर्म-7 भरकर जमा करना होगा जिसके बाद ये कार्ड रद्द हो जाएगा साथ ही आपको फॉर्म के साथ मृत व्यक्ति का मृत्यु प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य होगा। 

तो दोस्तों हम सभी जानते हैं कि पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी और पासपोर्ट जैसे दस्तावेज भारत देश हर व्यक्ति के लिए कितने अहम दस्तावेज हैं और इन दस्तावेजों के बिना आप सरकारी या प्राइवेट कोई भी काम हो वह पूर्ण नहीं हो सकता अधिकांश रूप से सरकारी योजनाओं का लाभ आपको इन डाक्यूमेंट्स की मदद से ही मिलता है इसलिए इन्हें आप सुरक्षित और संभालकर रखें ताकि कोई भी अन्य व्यक्ति आपके दस्तावेजों का गलत उपयोग न कर सके। 

इसे भी पढें – घर बैठे मोबाइल से पैन कार्ड कैसे बनाएं 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website