यूआईडीएआई (UIDAI) ला रहा है आधार कार्ड में नया अपडेट, भारत में जल्द आएगा “आधार 2.0”

यूआईडीएआई एक आधार खाताधारक के लिए नया अपडेट लेकर आया है आइये जानते हैं जैसा कि किसी आधार धारक के मृत्यु हो जाने के बाद उसका आधार स्वचालित रूप से निष्क्रिय नहीं होता है जिसकी परिणाम यह होता है कि बहुत से परिवार उस आधार का गलत इस्तेमाल कर लेते हैं या भारतीय सरकारी योजनाओं का लाभ उठाते रहते हैं। इन्हीं समस्याओं से निपटने के लिए अब यूआईडीएआई बहुत ही जल्द एक नया अपडेट लाने वाला है। 

यूआईडीएआई का नया अपडेट 

भारत: भारत का विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) अब बहुत जल्द एक नई सुविधा शुरू करने जा रहा है जी हाँ दोस्तों यूआईडीएआई एक ऐसी सुविधा लेकर आया है जिससे आधार धारक के मृत्यु होने के बाद उसका मृत्यु प्रमाण पत्र बनते ही उसके आधार को निष्क्रिय कर दिया जायगा। मतलब, मृत्यु के बाद व्यक्ति का आधार उसके मृत्यु के साथ समाप्त हो जाएगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मृत्यु प्रमाण पत्र जारी होने के बाद मृतक के परिवार के सदस्यों के साथ बातचीत कर उनकी  सहमति से मृतक के आधार नंबर को निष्क्रिय कर दिया जायगा।

यूआईडीएआई 

यूआईडीएआई ने यह भी कहा कि इस कदम को राज्य सरकारों के साथ मिलकर लागू करना होगा, जिसके लिए चर्चा चल रही है। इसके लिए परिवार के सदस्यों को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी होने पर आधार संख्या साझा करनी होगी।

इसे भी पढ़ें – 31 मार्च से पहले जानें “आधार और पैन कार्ड लिंक कैसे करें” 

जन्म प्रमाण पत्र के साथ आधार 

इससे पहले भी यूआईडीएआई ने बच्चे के जन्म के साथ ही जन्म प्रमाण पत्र जारी करते समय बच्चे का आधार नंबर देने का बहुत बड़ा योजना लागू किया था उसके बाद यूआईडीएआई ने यह कदम उठाया है। आपको बता दें कि जन्म प्रमाण पत्र जारी करते समय बच्चे का आधार नंबर  देने की प्रक्रिया को 20 से अधिक राज्यों ने इस प्रणाली को लागू कर लिया  है, आने वाले महीनों में अन्य राज्यों द्वारा पालन करने की उम्मीद है।

आधार 2.0

माना जा रहा है कि यह सुविधाएं आने वाले आधार 2.0 के अभ्यास का हिस्सा हैं, जिसके तहत सरकार नई सुविधाओं को लागू करने की मांग कर रही है। यूआईडीएआई उन लोगों को अपनी जानकारी अपडेट करने के लिए प्रेरित कर रहा है, जिन लोगों को 10 साल पहले कार्ड जारी किए गए थे, उन्हें अपने रिकॉर्ड अपडेट करने के लिए कहा जा रहा है। 

Author

  • Karan Sharma

    मेरा नाम करण है और मैं apnakal.com वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिखता हूं। हिंदी लिखने का मेरा जुनून है जो मुझे सब कुछ के बारे में लिखने के लिए प्रेरित करता है।

    View all posts

Leave a Comment

Your Website