शिवराज के इन 3 बयानों ने कर दिया हाई कमान तक को हैरान, कांग्रेस भी लगातार कस रही तंज 

मध्य प्रदेश की सत्ता में जिन्होंने पूरे 18 सालों तक राज किया उनके द्वारा दिए गए यह तीन बयान इन दिनों प्रदेश की जनता के बीच चर्चा का मुद्दा बने हुए हैं, साथ ही हो रहे सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल, जिनका फायदा कांग्रेस बखूबी उठा रही है और लगातार शिवराज सिंह चौहान सहित पूरी भारतीय जनता पार्टी पर तंज कस रही है। माना जा रहा है कि शिवराज का उनकी गद्दी छूटने का दुख झलक रहा है। 

जैसा कि हम सब जानते हैं शिवराज सिंह चौहान ने इस बार के विधानसभा चुनाव में जी तोड़ मेहनत की थी और वह इस मुख्यमंत्री पद की दौड़ में भी शामिल थे, पर बावजूद उसके पार्टी ने राजसिंहासन के लिए एक नए चेहरे को लांच किया और डॉ मोहन यादव को मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री घोषित कर दिया, जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान को अपने पद से इस्तीफा देना पड़। पद त्यागने के बाद शिवराज सिंह चौहान को कई जनसभाओं में भावुक होते हुए देखा गया साथ ही बहुत हैरान कर देने वाले बयान उनके मुंह से सुनने को मिले। 

शिवराज के इन 3 बयानों से हाई कमान तक हैरान  

बीते दिनों पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तरफ से दिए हुए बड़े बयान प्रदेश की जनता के बीच इन दिनों चर्चा का विषय बने हुए है, साथ ही सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहे हैं। प्रवक्ता राजपाल सिंह के अनुसार पार्टी में संगठन का फैसला सर्वोपरि होता है जिसको वरिष्ठ कार्यकर्ताओं सहित अन्य सभी नेताओं को मनाना रहता है, इसलिए पार्टी के निर्णय से ही CM मोहन यादव को MP के सिंहासन पर बैठाया गया ह, जिसके बाद से पूर्व सीएम शिवराज के ऐसे बयान सामने आए जिससे खुद हाई कमान तक हैरान है।  

पूर्व CM युवराज के 3 बड़े बयान –  

मांगने से बेहतर मर जाना पसंद करूँगा

यह पूर्व सीएम शिवराज का पहला बयान था जो कि उसे समय आया था जब BJP ने डॉ मोहन यादव को मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री घोषित किया था, जिसके बाद मीडिया ने शिवराज सिंह चौहान से सवाल करते हुए पूछा था की क्या वह किसी अन्य पद की मांग सरकार से करेंगे? जिसका जवाब देते हुए शिवराज ने कहा था कि सब दिल्ली जा रहे हैं अपने लिए कोई बेहतर पद मांगने लेकिन मैं नहीं जाऊंगा क्योंकि “अपने लिए कुछ मांगने से बेहतर मैं मरना पसंद करूंगा”। 

राजतिलक के पहले जाना पड़ा वनवास  

मध्य प्रदेश के नए सीएम मोहन यादव के पद पर बैठने के बाद पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान अपने गर्भ ग्रह सीहोर में आयोजित जन सभा में सम्मिलित होने पहुंचे, जिसमें जनता से बातचीत के दौरान उन्होंने भगवान राम का उदाहरण देते हुए कहा कि “राज तिलक के पहले वनवास पर भी जाना पड़ता है” हालांकि उनका यह बयान उन्हीं के ऊपर था जिसको उन्होंने भगवान श्री राम का उदाहरण देकर जनता के बीच रखा। 

इसे भी पढ़ें –  MP News: मध्य प्रदेश हाईकोर्ट से मिली राहत, शिक्षक भर्ती वर्ग-1 के रिक्त 5935 पदों पर होगी भर्ती

होर्डिंग से फोटो ऐसे गायब जैसे गधे के सर से सींग

शिवराज सिंह चौहान का यह बयान इन दोनों बहुत सुर्खियां बटोर रहा है। दरअसल अभी हाल ही में एक जन सभा को संबोधित करते हुए पूर्व CM शिवराज ने यह बात कही थी कि “जब तक वह मुख्यमंत्री थे तब तक उनके चरण कमल के समान थे, लेकिन जैसे ही कुर्सी चली गई वैसे ही होर्डिंग से फोटो ऐसे गायब हो गए जैसे गधे के सर से सींग”।

हालांकि उनके इस बयान का विपक्ष बहुत तेजी से फायदा उठा रहा है और शिवराज सहित भारतीय जनता पार्टी पर हमला करते हुए तंज कस रहा है। 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website