मध्यप्रदेश के युवाओं की बल्ले-बल्ले! 10 हजार रूपए मिलेंगे ट्रैनिंग में फिर डॉयरेक्ट ज्वाइनिंग

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य के पढ़े लिखे युवाओं के लिए एक योजना लागू की है जिसका नाम है सीखो कमाओ योजना और इस योजना के तहत राज्य के युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा और प्रशिक्षण के दौरान उन्हें 8 से 10 हजार रुपए का स्टाइपेंड भी सरकार की तरफ से मिलेगा।

सीखो कमाओ योजना में आवेदन कैसे करना है? कोर्स कैसे सेलेक्ट करना है और फिर सर्टिटिकेट प्राप्त कर जॉब कैसे अप्लाई करनी है, सहायक दस्तावेज और सभी कोर्स की सम्पूर्ण जानकारी आज हम यहां साझा करने वाले हैं तो कृपया अंत तक जरुर पढें।

सीखो कमाओ योजना कोर्स की जानकारी

सीखो कमाओ योजना में कोर्स को 2 कैटेगरी में विभाजित किया गया है। जिसमें 1 जनवरी 1999 के बाद जन्म लेने वाले युवाओं के लिए अलग कोर्स हैं और 1 जनवरी 2002 के बाद जन्म होने वाले युवाओं के लिए अलग कोर्स हैं।

1 जनवरी 1999 के बाद जन्म लेने वाले युवाओं के कोर्स

रोबोट सिस्टम एकीकरण, योगात्मक विनिर्माण, डिजिटल निर्माण, मेकाट्रोनिक्स, उद्योग 4.0, जल प्रौद्योगिकी, क्लाउड कम्प्यूटिंग, साइबर सुरक्षा, औद्योगिक डिजाइन, तकनीकी, सूचना नेटवर्क केबलिंग

 1 जनवरी 2002 के बाद जन्म होने वाले युवाओं के कोर्स

फ्लोरिस्ट्री, सीएनसी मिलिंग, लैंडस्केप गार्डनिंग, फैशन टेक्नोलॉजी, प्रोटोटाइप मॉडलिंग, ऑटोमोबाइल, टेक्नोलॉजी, कार पेंटिंग, ऑटो बॉडी रिपेयर, ब्यूटी थेरेपी, हेयरड्रेसिंग, वेल्डिंग, प्लास्टिक डाई इंजीनियरिंग, सीएनसी टर्निंग, मैकेनिकल, इंजीनियरिंग डिजाइन, सीएडी, ब्रिकलेइंग, वॉल और फ्लोर टाइलिंग, पलस्तर और ड्राईवॉल सिस्टम, कंक्रीट निर्माण कार्य, इलेक्ट्रॉनिक्स, विद्युत प्रतिष्ठान, प्रशीतन और एयर कंडीशनिंग, मोबाइल रोबोटिक्स, मेक्ट्रोनिक्स, औद्योगिक नियंत्रण, आईटी नेटवर्क सिस्टम प्रशासन, कैबिनेट बनाने, बढ़ईगीरी, जुड़ाव, आभूषण, जल प्रौद्योगिकी

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश लाड़ली बहना योजना पेंशनधारी महिलाओं को मिला 400 रुपये का पहला टॉपअप

सीखो कमाओ योजना में प्रशिक्षण के बाद जॉब कैसे ज्वाइन करें

सीखो कमाओ योजना में आपके द्वारा सेलेक्ट किए गए कोर्स का प्रशिक्षण 1 अगस्त से कोर्स की निर्धारित समयअवधि तक जारी रहेगा। और प्रशिक्षण पूर्ण करने के बाद आपको मध्यप्रदेश राज्य शिक्षा कौशल विकास एवं रोजगार निर्माण बोर्ड (MPSSDEGB) द्वारा SCVT का प्रमाणन सर्टिफिकेट मिलेगा।

औपचारिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद युवा के पास औद्योगिक एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में रोजगार प्राप्त करने की कुशल क्षमता नहीं होती है और ना ही कोई अनुभव होता है। इस लिए सीखो कमाओ योजना के अंतर्गत औपचारिक शिक्षा प्राप्त युवकों को पंजीकृत औद्योगिक एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में ON-THE-JOB-TRAINING की सुविधा इस योजना के अंतर्गत प्रदान की जाएगी। जिसमें औद्योगिक एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठान युवाओं को प्रशिक्षित करेंगे और सरकार युवाओं को 8 से 10 हजार स्टाइपेंड के रूप में भी प्रदान करेगी। ऐसा प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए युवा प्रोत्साहित होंगे और उन्हें भविष्य में जॉब तलास करने में सहायता मिलेगी।

यह भी पढ़ें – PM Kisan Yojana: 14वीं किस्त आपकी भी अटक सकती है, तुरंत ऐसे करें ठीक

सीखो कमाओ योजना के लिए आवेदन कैसे करें

सीखो कमाओ योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले अधिकारिक वेबसाइट https://mmsky.mp.gov.in/ पर जाना होगा। इसके बाद ‘अभ्यर्थी पंजीयन’ विकल्प पर क्लिक करना होगा। आवश्यक निर्देश और पात्रता को ध्यान से पढ़ने के बाद आपको समग्र आईडी दर्ज करनी होगी और पंजीकृत मोबाइल में प्राप्त OTP वेरिफाई करना होगा। आगे आपको शैक्षणिक योग्यता और सहायक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा और फिर अपनी कोर्स का चुनाव कर ट्रेनिंग का स्थान चुनना होगा।

सीखो कमाओ योजना महत्त्वपूर्ण तिथी

सीखो कमाओ योजना में सर्वप्रथम व्यावसायिक संस्थानों का आवेदन होगा जो कि 7 जून 2023 से प्रारंभ हो चुके हैं और 15 जून से युवाओं का आवेदन जारी हो चुका है 30 जुलाई तक राज्य के युवा सीखो कमाओ योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। 1 अगस्त से प्रशिक्षण प्रारंभ हो जाएगा और प्रशिक्षण में दी जाने वाली 8 से 10 हजार रुपए की राशि 1 सितंबर से युवाओं के खाते में प्राप्त हो जाएगी।

यह भी पढ़ें – ग्राम सुरक्षा योजना किसानों के लिए बम्पर योजना 50 रुपये निवेश कर पाएं 35 लाख का रिटर्न

सीखो कमाओ योजना स्टाइपेंड

सीखो कमाओ योजना में राज्य को युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान 8 से 10 हजार रुपए का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा। जिसमें शैक्षणिक योग्यता के अनुसार 12वीं उत्तीर्ण को 8 हजार रुपए प्रतिमाह दिया जाएगा, आईटीआई उत्तीर्ण 8500 रूपए, डिप्लोमा उत्तीर्ण 9 हजार रूपए और उच्चशैक्षणिक योग्यता को 10000 रूपए का स्टाइपेंड सरकार की तरफ से प्राप्त होगा। जिसमें 75 प्रतिशत राज्य सरकार देगी और 25 प्रतिशत प्रशिक्षण देने वाली संस्था देगी।

और अधिक पढ़ें

Author

Leave a Comment

Your Website