MP News: मध्य प्रदेश सरकार की एक और महत्वपूर्ण बैठक संपन्न, कर्मचारियों और किसानों के हित में आया फैसला

आज 4 मार्च 2024 दिन सोमवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव की अध्यक्षता में राजधानी भोपाल में मंत्रालय की एक महत्त्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। मोहन कैबिनेट की इस बैठक में दर्जनों प्रस्तावों पर चर्चा हुई और मुहर लगाई गई।

मोहन कैबिनेट की इस बैठक में राज्य के विकास सहित धार्मिक स्थलों के विकास पर भी चर्चा की गई। इसके साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुऐ सरकारी कर्मचारियों की मांगों, किसानों की सिंचाई परियोजना और स्मार्ट सिटी 2.0 की पहल कैबिनेट बैठक में की गई है।

मोहन कैबिनेट के महत्त्वपूर्ण फैसले

आज सोमवार को मोहन कैबिनेट की बैठक के बाद नगरीय विकास एवं आवास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि मध्य प्रदेश की मोहन सरकार ने महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं जिसमें राज्य के विकास के साथ ही धार्मिक स्थलों के विकास पर भी फोकस किया गया है इसके साथ ही उन्होंने यह बताया कि मंत्रिमंडल रामलाल के दर्शन हेतु अयोध्या रवाना हो रहा है।

मध्य प्रदेश कैबिनेट में इन सभी प्रस्तावों को मिली मंजूरी

मोहन कैबिनेट की बैठक में सबसे पहले भारत सरकार द्वारा शुरू स्मार्ट सिटी योजना को विस्तार दिया गया है इस योजना के तहत 100 स्मार्ट शहरों में से 18 शहरों का चयन किया जाएगा और लगभग 135 करोड़ की राशि विकास हेतु दी जाएगी जिसमें से 50% से ज्यादा योगदान राज्य सरकार का होने वाला है।

मोहन कैबिनेट की इस बैठक में सिंचाई परियोजना और पीडब्ल्यूडी विभाग के लंबित कार्यों को समय से पूर्ण करने हेतु बजट की स्वीकृति दी गई और इससे अब 2 हज़ार से भी अधिक पंचायतों को लाभ मिलने वाला है। और लगभग 10 सिंचाई परियोजना को स्वीकृति दी गई है।

सरकारी कर्मचारियों को अनुकंपा नियुक्ति का लाभ

मोहन कैबिनेट कि बैठक में लोकसभा चुनाव को देखते हुए सरकारी कर्मचारियों पर भी फोकस किया गया और पंचायत सचिव की मौत पर अनुकंपा नियुक्ति देने का प्रावधान रखा गया है। इसके साथ ही यह फैसला लिया गया कि कर्मचारियों अधिकारियों के तबादले जिले के बाहर भी हो सकेंगे इसके साथ 2000 प्रोफेसर को पीएचडी करने के लिए अधिकृत होंगे।

यह भी पढ़ें – मध्य प्रदेश के इंदौर में बनेगा ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर, 2000 से अधिक युवाओं को मिलेगा रोजगार

मंत्रीमंडल रमालाला के दर्शन के लिए रवाना

मोहन कैबिनेट की इस बैठक के बाद मंत्रिमंडल रामलाल के दर्शन हेतु अयोध्या रवाना हुए और मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने कहा कि अयोध्या में रामलाल के दर्शन के बाद मध्य प्रदेश के विकास कार्य और धार्मिक स्थलों से जुड़े कई अहम फैसले लिए जाएंगे। इसके साथ ही मध्य प्रदेश ने अयोध्या में यात्रियों के लिए धर्मशाला निर्माण कराने का ऐलान भी किया है।

मुख्यमंत्री जी ने आगे कहा कि आगामी बैठक में मध्य प्रदेश के विकास धन संस्कृत विभाग राजस्व से संबंधित कोई महत्वपूर्ण फैसले लिए जाएंगे। अब तक राज्य सरकार ने महिलाओं और किसानों के लिए सिंचाई परियोजना पर फॉक्स किया है लेकिन अब इनके साथ ही अन्य मुद्दों पर चर्चा करना जरुरी है। ताकि राज्य के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति बेहतर हो।

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में विकसित होंगे नए तीर्थ स्थल, पढ़ाई हेतु 10 से 15 लाख तक की फीस सरकार देगी

Author

Leave a Comment

Your Website