तीर्थ दर्शन योजना के तहत प्रदेश 25 जिलों के श्रद्धालुओं को मिलेगा हवाई तीर्थ यात्रा करने का मौका आदेश जारी

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का आरम्भ 2012 में किया गया था। इस योजना के तहत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा तीर्थ स्थल की निशुल्क यात्रा का आयोजन करवाया जाता है। जिससे कि प्रदेश के बुजुर्ग वर्ग के लोग सरकार के मदद से तीर्थ यात्रा कर पाते हैं। आपको बता दें की इस योजना के तहत सर्वप्रथम 3 सितंबर 2012 को रामेश्वरम की यात्रा कराई गई थी जो अब निरंतर चल रही है।

हाल ही में मध्यप्रदेश सरकार ने फरवरी 2023 में प्रदेश के अलग अलग जिलों से सभी श्रद्धालुओं को  काशी (वाराणसी) की यात्रा सम्पूर्ण कराइ है। आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत देश में उपस्थित सभी तीर्थ स्थलों में से एक तीर्थ स्थल आपको मध्यप्रदेश सरकार द्वारा योजना के तहत सभी पात्र बुजुर्गों को बिल्कुल मुफ्त में तीर्थ दर्शन कराया जाता है। 

अगला तीर्थ दर्शन होगा हवाई यात्रा से 

फ़रवरी में काशी का तीर्थ दर्शन संपन्न होने के बाद मध्यप्रदेश सरकार ने अब 21 मई से 19 जुलाई तक एक नए तीर्थ दर्शन के लिए आदेश जारी कर दिया है। इस बार श्रद्धलुओं के लिए तीर्थ दर्शन बहुत यादगार होने वाला है क्योंकि इस यह तीर्थ दर्शन हवाई यात्रा द्वारा कराया जायगा। तीर्थ-यात्राओं के लिये कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है।

25 जिलों के यात्री करेंगे हवाई तीर्थ यात्रा

 21 मई से 19 जुलाई तक योजना में 25 जिलों के तीर्थ-यात्री वायुयान से यात्रा करेंगे। इस हवाई यात्रा तीर्थ दर्शन में प्रयागराज, शिरडी, मथुरा-वृंदावन और गंगासागर की यात्राएँ वायुयान से कराया जायगा। इस संबंध में जिला कलेक्टर्स को निर्देश जारी कर दिये गये हैं। अभी ये 25 जिलें कौन कौन है इसकी लिस्ट जारी नहीं है जैसे ही लिस्ट जारी होता है हम आपको सूचित कर देंगे। 

इसे भी पढ़ें – पैन कार्ड और आधार कार्ड लिंक कैसे चेक करें

हवाई तीर्थ यात्रा की मुख्य बातें 

तीर्थ दर्शन में जाने वाले यात्री इस बार हवाई जहाज में यात्रा करेंगे। 

एक वायुयान में 33 सीट उपलब्ध रहेंगी जिसमे प्रत्येक जिले से 32 यात्री और एक शासकीय अधिकारी होगा। 

तीर्थ दर्शन में जाने वाले यात्री की उम्र 65 वर्ष से अधिक होनी चाहिये और वे आयकर दाता नहीं होना चाहिये। 

अधिक मात्रा में आवेदन आने पर यात्रियों की सूची लॉटरी से चयन किया जायेगा। 

हवाई यात्रा का रुट शेड्यूल 

21 मई से 3 जून – 21 मई को भोपाल से प्रयागराज, 23 मई को आगर-मालवा से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 25 मई को बैतूल से वृंदावन वाया भोपाल एयरपोर्ट, 26 मई को देवास से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 3 जून को खण्डवा से गंगासागर वाया इंदौर एयरपोर्ट।

4 जून से 16 जून – 4 जून को हरदा से प्रयागराज वाया भोपाल एयरपोर्ट, 6 जून को मंदसौर से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 8 जून को नर्मदापुरम से मथुरा-वृंदावन वाया भोपाल एयरपोर्ट, 9 जून को नीमच से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 15 जून को बड़वानी से गंगासागर वाया इंदौर एयरपोर्ट, 16 जून को इंदौर से गंगासागर।

18 जून से 22 जून – 18 जून को दमोह से प्रयागराज वाया भोपाल एयरपोर्ट, 19 जून को बुरहानपुर से गंगासागर वाया इंदौर एयरपोर्ट, 19 जून को ही रतलाम से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 20 जून को शाजापुर से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 22 जून को सागर से मथुरा-वृंदावन वाया भोपाल एयरपोर्ट।

इसे भी पढ़ें – लाड़ली बहना योजना ऑनलाइन सर्टिफिकेट सिर्फ एक मिनट में करें डाउनलोड

23 जून से 4 जुलाई – 23 जून को खरगौन से गंगासागर वाया इंदौर एयरपोर्ट, 23 जून को ही उज्जैन से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 2 जुलाई को विदिशा से प्रयागराज वाया भोपाल एयरपोर्ट, 3 जुलाई को अलीराजपुर से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 4 जुलाई को राजगढ़ से मथुरा-वृंदावन वाया भोपाल एयरपोर्ट।

6 जुलाई से 19 जुलाई – 6 जुलाई को सीहोर से मथुरा-वृंदावन वाया भोपाल एयरपोर्ट, 7 जुलाई को धार से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट, 16 जुलाई को रायसेन से प्रयागराज वाया भोपाल एयरपोर्ट। 

19 जुलाई – झाबुआ से शिरडी वाया इंदौर एयरपोर्ट से तीर्थ-यात्री दर्शन के लिये रवाना होंगे। गंगासागर जाने वाले सभी तीर्थ-यात्री वाया कोलकाता एयरपोर्ट पहुँचेंगे।

तो दोस्तों ये पूरा शेड्यूल है जो सरकार द्वारा अगले हवाई तीर्थ दर्शन के लिए तैयार किया गया है उम्मीद करता हु आपको यह लेख पसंद आया होगा धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें – लाड़ली बहना योजना आवेदन करने से लेकर पैसा मिलने तक की पूरी प्रक्रिया 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website