मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान फिल्म द केरला स्टोरी को किया टैक्स फ्री

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को हाल ही में रिलीज हुई फिल्म “द केरल स्टोरी” को एक वीडियो सन्देश के माध्यम से टैक्स फ्री करने की घोषणा की है। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘हम मध्य प्रदेश में धर्म परिवर्तन के खिलाफ पहले ही कानून बना चुके हैं।

द केरला स्टोरी के निर्माता विपुल अमृत लाल और निर्देशक सुदीप्तो सेन हैं। “द केरल स्टोरी” इस समय देश के सिनेमाघरों में धूम मचा रही रही है, विरोध और समर्थन के बीच जो दर्शक इसे देखकर आ रहा हैं वो इसकी तारीफ ही कर रहा है। 

मध्यप्रदेश में टैक्स फ्री – द केरला स्टोरी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो से सन्देश देते हुए इस फिल्म को सभी को देखने के लिए कहा क्योंकि यह फिल्म जागरूकता पैदा करती है, लव जिहाद क्या होता है उसकी हमें परिभाषा दिखाती है इसलिए सभी माता-पिता, बच्चों और बेटियों को यह फिल्म देखनी चाहिए। इसके लिए में हमारे राज्य मध्य प्रदेश में फिल्म द केरला स्टोरी  को टैक्स फ्री कर रहा हूँ। 

मुख्यमंत्री ने फिल्म को लेकर दिया अपना बयान 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि फिल्म ‘लव जिहाद’, धर्म परिवर्तन और आतंकवाद की साजिशों और उसके ‘घृणित’ चेहरे को उजागर करती है। लव जिहाद एक ऐसा शब्द है जिसका इस्तेमाल अक्सर मुस्लिम पुरुषों द्वारा शादी के माध्यम से हिंदू बेटियां को धर्म परिवर्तन के लिए लुभाया जाता है और बेटियां इस धोखे भरे प्यार में ‘लव जिहाद’ के जाल में फंसकर अपना जीवन बर्बाद कर लेती हैं, यह फिल्म इसी सामाजिक समस्या पर आधारित है।

फिल्म को प्रधानमंत्री ने भी कही ये बड़ी बात 

विधानसभा चुनाव के बेहद नजदीक है कर्नाटक राज्य और इस चुनावी महासंग्राम में अब सभी बड़े नेता खुलकर आगे आ रहे हैं। कर्नाटक में चुनाव से पहले एक रैली में पीएम मोदी ने फिल्म को लेकर कहा कि, देश का इतना खूबसूरत राज्य, जहां के लोग मेहनती और प्रतिभाशाली हैं। ‘केरल स्टोरी’ फिल्म उस राज्य में हो रही आतंकी साजिशों को सामने लाती है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकी प्रवृत्ति द्वारा भारत देश को बर्बाद करने की कोशिश किया जा रहा है और इनके साथ कांग्रेस को खड़ा देखा जा सकता है। कांग्रेस आतंकी झुकाव वाले लोगों के साथ पिछले दरवाजे से राजनीतिक सौदेबाजी में भी लिप्त है। कर्नाटक के लोगों को कांग्रेस से सावधान रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश में कितना है बेरोजगारी भत्ता? अभी करें बेरोजगार भत्ता पाने के लिए आवेदन ये रहा प्रोसेस

आपको बता दें कि कर्नाटक में 10 मई को  विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने वाला है और इसके लिए सभी पार्टियों में चुनावी संघर्ष साफ तौर पर देखा जा रहा है। इस विधानसभा चुनाव का परिणाम 13 मई को घोषित किए जाएंगे।

Author

  • Karan Sharma

    मेरा नाम करण है और मैं apnakal.com वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिखता हूं। हिंदी लिखने का मेरा जुनून है जो मुझे सब कुछ के बारे में लिखने के लिए प्रेरित करता है।

Leave a Comment

Your Website