राज्य के कर्मचारियों को DA में बड़ी राहत, राज्य सरकार ने जारी किए DA में 4% बढ़ोतरी के आदेश

देश के कई राज्यों के कर्मचारी DA में बढ़ोतरी का इंतजार एक लंबे समय से करते आ रहे हैं, पर अब उत्तराखंड राज्य के कर्मचारियों के इंतजार की घड़ी समाप्त हो गई है। बता दें की धामी सरकार ने राज्य के कर्मचारियों को राहत पहुंचते हुए महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का आदेश जारी किया है। राज्य के कर्मचारियों को 1 जुलाई 2023 से इस बड़े हुए महंगाई भत्ते का लाभ मिलेगा।  

उत्तराखंड राज्य के 2.5 लाख कार्यरत कर्मचारी संगठन एवं पेंशनर, लगभग 6 महीने से भी अधिक समय से महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का इंतजार कर रहे थे और उम्मीद लगा रहे थे कि हो सकता है दिसंबर के अंत या नए साल के अवसर पर उन्हें इस 4% DA में बढ़ोतरी का लाभ पहुंचाया जाए। हालांकि ऐसा नहीं हुआ और कर्मचारियों के हाथ सिर्फ निराशा लगी, लेकिन अब धामी सरकार ने कर्मचारियों और पेंशनरों की नाराजगी और बढ़ाने ना देते हुए हाल ही में 4% DA में बढ़ोतरी की घोषणा राज्य में की है। 

DA में वृद्धि की हुई घोषणा  

उत्तराखंड राज्य के करीबन 2.5 लाख कार्यरत कर्मचारी एवं सवा लाख पेंशनरों को महंगाई में राहत पहुंचते हुए उत्तराखंड राज्य की धामी सरकार ने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फ़ीसदी की बढ़ोतरी करने की घोषणा कर दी है कर्मचारियों को इस बड़ी हुई दर का भुगतान विभाग द्वारा 1 जुलाई 2023 से होगा। 

DA में हुआ 42% से 46% इज़ाफा  

उत्तराखंड राज्य के कर्मचारियों को राज्य सरकार से उम्मीदें थी कि उनके DA को सरकार जल्द ही बढ़ाने के लिए फैसला लेगी, 6 महीने के लंबे इंतजार के बाद अब धामी सरकार ने राज्य का कर्मचारियों के DA में 4 फीसदी बढ़ोतरी करने का ऐलान कर दिया है। बता दें कि कर्मचारियों को इस बड़े हुए DA का लाभ जुलाई 2023 से प्रदान किया जाएगा। अभी तक कर्मचारियों को 42 फ़ीसदी दिए का लाभ उपलब्ध कराया जाता था जिसको 4% की वृद्धि के बाद अब 46 फ़ीसदी कर दिया गया है। 

राज्य कर्मी एवं पेंशनरों को मिलेगी राहत 

जारी आदेश के मुताबिक धामी सरकार के इस 4% महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का लाभ राज्य के कार्यरत अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों सहित अन्य राजकीय कर्मचारी एवं पेंशनरों को मिलेगा।

इसे भी पढ़ें –  मध्य प्रदेश में शासकीय और संविदा कर्मचारियों के वेतनमान में वृद्धि

महंगाई भत्ते में की गई बढ़ोतरी से कर्मचारियों को वित्तीय सहायता मिलेगी और उनके जीवन में आने वाली समस्याओं का समाधान होगा, इसके साथ ही पेंशनरों को भी काफी सहायता मिलेगी उन्हें स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं के इलाज के लिए और अस्पताल के खर्चे में काफी राहत मिलेगी। 

Author

Leave a Comment

Your Website