शिवराज सिंह चौहान ने शराब की दुकानों को किया बंद, कहा अवैध शराब बेचने वालों को अब छोडूंगा नहीं

शिवराज सिंह चौहान ने आज निवास में आयोजित कार्यक्रम में सभी अवैध शराब की दुकानों और शराबियों को खुली चेतावनी दे दी है मध्य प्रदेश के सारे शराब अड्डे और शॉप बार बंद होने जा रहे हैं। जिससे प्रदेश की महिलाएं शिवराज सरकार के फैसले से एक बार फिर काफी खुश नजर आ रही हैं। 

हालाँकि मध्य प्रदेश सरकार सबसे ज्यादा राजस्व वसूली प्रदेश के अंदर शराब की दुकानों एवं अहातों से ही किया करती थी परन्तु अब लगातार बढ़ते सामाजिक दबाव एवं शराब के दुष्प्रभाव को देखते हुए शिवराज सरकार ने आबकारी विभाग में बहुत से नए प्रावधान को जोड़ते हुए यह महत्वपूर्ण कदम उठाया है। 

शराब अहाते बंद करने का सख्त निर्देश 

सीएम शिवराज ने मध्यप्रदेश में जितने भी शराब अहाते मतलब शराब पीने  हैं उन सभी सभी को बंद करने के लिए आबकारी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है। लोग शराब खरीद तो सकेंगे लेकिन दुकान पर बैठकर नहीं पी पाएंगे इसके अलावा अब गर्ल्स हॉस्टल और सभी प्रकार के शैक्षणिक संस्थानों से 100 मीटर की दूरी तक शराब की वेध दुकानें भी न होने का निर्देश दिया है। 

हमें मिली जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश के अंदर शराब दुकानों के साथ अहातों की संख्या लगभग 2600 से अधिक है, जहाँ लोगों को बिठा कर शराब पिलाई जाती थी, एक प्रकार से शराबियों का जमावड़ा हुआ करता था लेकिन अब यह पीने पिलाने का दौर आज से शिवराज सरकार ने पूरी तरह बंद कर दिया है। 

अवैध शराब बेचने वालों को भेजूंगा जेल 

निवास में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने आबकारी विभाग के नियमों में फिर से कई नए प्रावधान लाये हैं जिनसे अब हम मध्यप्रदेश को नशामुक्ति की ओर ले जायेंगे। इसके साथ ही उन्होंने आबकारी विभाग के अधिकारिओं को अवैध शराब बेचने वाले दुकानों और अड्डों को बंद करने और उन्हें जेल भेजने का सख्त आदेश दिया है। 

इसे भी पढ़ें – नारी सम्मान योजना में आवेदन करने का आखिरी मौका, हर महीने मिलेंगे 1500 रुपये

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने वैध रूप से शराब दुकान चलाने का प्रावधान रखा है उस नियमनुसार आप शराब बेच सकते हैं किन्तु यदि आप अवैध रूप से मनमाने तरीके से काम करेंगे तो आपको छोड़ा नहीं जायगा। 

Author

Leave a Comment

Your Website