संविदा कर्मचारियों पर मेहरबान शिवराज सरकार मध्यप्रदेश में खत्म हुआ संविदा कल्चर

MP News: मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में संविदा कर्मचारियों के हित में महत्वपूर्ण घोषणाएं की है। करीब डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों को सालाना कॉन्ट्रैक्ट कल्चर से मुक्त कर दिया गया है। शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को भोपाल में संविदा कर्मचारियों सम्मेलन में कहा कि आज से संविदा कर्मचारियों के हर साल के अनुबंध की प्रक्रिया को समाप्त की जाती है। 

चुनावी साल में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। उन्होंने कहा है कि अब संविदा कर्मचारियों को भी नेशनल पेंशन स्कीम का लाभ दिया जाएगा मुख्यमंत्री ने संविदा कर्मचारियों की खूब तारीफ़ की और कहा कि आपकी दृष्टि और कार्यकुशलता नियमित कर्मचारियों से रत्ती भर भी कम नहीं है जरूरत पड़ने पर संविदा कर्मचारियों ने नियमित कर्मचारियों से ज्यादा काम करके दिखाया है। 

कटा हुआ वेतन वापस होगा

सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री ने मजाकिये अंदाज़ में कहा कि बीच-बीच में संविदा कर्मचारियों के साथ थोड़ी लड़ाई हो गई थी  इनका वेतन काट लिया गया था। जिसके लिए उन्होंने कहा अब ऐसा नहीं होगा और जितने भी कर्मचारिओं के वेतन कटे हैं उन्हें वो वापस किये जायेंगे अंत में उन्होंने कहा कि जितना मेरा सम्मान है,उतना आपका भी सम्मान है और रहेगा। 

स्वास्थ्य बीमा योजना

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान संविदा कर्मचारियों को बहुत से तोहफे उपहार में दिए परन्तु स्वास्थ्य बीमा योजना सबसे शानदार है यह अब इनको नियमित कर्मचारियों की तरह लाभ मिलेगा। 

अनुकम्पा नियुक्ति

शिवराज सिंह चौहान ने संविदा वर्ग के कर्मचारियों को अनुकम्पा नियुक्ति देने का भी वादा किया है। 

रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मचारियों के लिए रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटि की व्यवस्था भी कर दी है। 

नियमित पदों पर भर्ती में 50 फीसदी आरक्षण

मुख्यमंत्री घोषणा के अनुसार अब नियमित पदों पर भर्ती में 50 फीसदी रिजर्वेशन संविदा कर्मचारियों के लिए किया जाएगा। 

नियमित कर्मचारियों की तरह अवकाश

अब से संविदा वर्ग के सभी कर्मचारियों को छुट्टियां सीएल, ईएल, ऐच्छिक अवकाश भी नियमित कर्मचारियों की तरह ही मिलेगा। इससे पहले संविदा कर्मचारियों को ज्यादा कार्य और अवकाश काम मिलता था परन्तु अब ऐसा नहीं होगा। 

मातृत्व अवकाश

महिला संविदा कर्मचारियों को मातृत्व अवकाश दिया जाएगा यानि जिस तरह बाकि रेगुलर कर्मचारियों को 180 दिनों का मातृत्व अवकाश जाता है वैसे नहीं अब महिला संविदा कर्मचारियों को अवकाश दिया जायगा। 

नेशनल पेंशन स्कीम

इन सभी के अलावा अंत में मुख्यमंत्री जी ने कहा हम तय कर रहे हैं कि नेशनल पेंशन स्कीम का लाभ आप सभी को दिया जाय ताकि हमारे रिटायरमेंट के बाद कुछ चीज ऐसी होनी चाहिए, जिससे हम अपना बुढ़ापा आसानी से गुजार सकें।  पिछली बार बात 90% की हुई थी लेकिन अब 100% केलकुलेशन मानकर सारा काम किया जाएगा। 

सम्मलेन के अंत में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि अब आप पहले से भी ज्यादा ईमानदारी से काम करोगे। 

यह भी पढ़ें –

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना दूसरे चरण के लिए इन महिलाओं को किया गया पात्र

कैबिनेट से मिली मंजूरी 10 जुलाई तक करें आवेदन और पाएं 10,000 रूपये प्रतिमाह

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website