65 वर्ष नहीं होगी सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र, वित्त विभाग का आया अधिकारिक ऐलान

MP News: मध्य प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र सीमा को आगे बढ़ाने की चर्चा और कयास लगाए जा रहे थे जिसको लेकर कुछ सरकारी कर्मचारी खुश थे लेकिन कुछ कर्मचारियों और युवाओं ने नाराजगी जताई। लेकिन अब शासकीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु सीमा को लेकर वित्त विभाग ने अपना फैसला सुना दिया है।

रिटायरमेंट उम्र नहीं होगी 65 वर्ष वित्त विभाग का ऐलान

मध्य प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र को लेकर के कहा जा रहा था कि सेवानिवृत्ति आयु सीमा 62 वर्ष से 3 वर्ष बढ़कर 65 वर्ष कर दिया जाएगा लेकिन वित्त विभाग ने आधिकारिक तौर पर यह क्लियर कर दिया है कि अब सेवानिवृत्ति आयु सीमा को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। वित्त विभाग ने सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र का मामला ड्रॉप कर देने की बात पर जोर दिया।

मोहन सरकार करने जा रही थी सेवानिवृत्ति आयु 65 वर्ष

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा सरकार द्वारा संकल्प पत्र और मोदी की गारंटी में सरकारी कर्मचारी की सेवानिवृत्ति आयु सीमा पर एक बिंदु शामिल था और विधानसभा चुनाव के बाद राज्य के मुख्यमंत्री मोहन यादव जी को 11 जनवरी 2024 को कर्मचारी कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष रमेश शर्मा ने एक नोट शीट तैयार करके दी जिसमें सरकारी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु सीमा में एक रुपता लाने के विवरण शामिल था।

इस नोटशीट में स्पष्ट कहा गया कि शासकीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु सीमा को 62 वर्ष से बढ़ाकर 65 वर्ष किए जाने पर विचार करना चाहिए। कयोंकि पदोन्नति और रिटायरमेंट होने की वजह से सरकारी विभागों में कैडर गड़बड़ाने क्योंकि खाली पदों को भी जल्द भरना पड़ता है और इसी बात पर कर्मचारी कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष रमेश शर्मा जी ने फोकस कर मुख्यमंत्री मोहन यादव का ध्यान आकर्षित कराया।

यह भी पढ़ें – Free Ration: राशन कार्डधारकों को मिलेगी बड़ी सौगात, मोदी सरकार की योजना से मिलेगा लाभ

कर्मचारी कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष रमेश शर्मा द्वारा जारी इस नोट शीट में सेवानिवृत्ति उम्र 65 वर्ष करे जाने की खबर पूरे मंत्रालय में फैल पड़ी। इसके बाद सेवानिवृत्ति आयु सीमा बढ़ाने के लिए सामान्य प्रशासन विभाग ने भी वित्त विभाग से अभीमत मांगा क्योंकि वित्त विभाग की खजाने पर भी भार पढ़ने वाला था। लेकिन कुछ कर्मचारी संगठन और राज्य के युवा सेवानिवृत्ति आयु सीमा बढ़ाने का विरोध करने लगे और मामला काफी ज्यादा बढ़ गया।

यह भी पढ़ें – MP News: मध्यप्रदेश के 75 हज़ार गेस्ट टीचर्स होंगे नियमित, BJP विधायक ने किया कन्फर्म

Author

Leave a Comment

Your Website