पुरानी पेंशन योजना को लेकर राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, 5 करोड़ सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा फायदा

एक बार फिर से पुरानी पेंशन बहाल को लेकर केंद्र सरकार को छ हफ्ते का अल्टीमेटम मिला है। दरअसल देश में पुरानी पेंशन बहाली के लिए लंबे समय से संघर्ष चल रहे कर्मचारी संगठनों ने केंद्र सरकार को OPS लागू करने के लिए छ सप्ताह का अल्टीमेटम दे दिया है। अगर इस अवधि में पुरानी पेंशन बहाल नहीं होती है तो देश भर में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू हो जाएगी।

पुरानी पेंशन बहाल को लेकर केंद्र सरकार को अल्टीमेटम

पुरानी पेंशन बहाली और हड़ताल की स्थिति के कारण रेलवे परिचालन और रक्षा क्षेत्र के उद्योगों समेत सभी सरकारी विभागों में काम बंद रहेगा. नई दिल्ली में हुई नेशनल ज्वाइंट काउंसिल ऑफ एक्शन के अधिकारियों की बैठक में यह अहम फैसला लिया गया. बैठक की अध्यक्षता शिव गोपाल मिश्र ने की. केंद्र सरकार को अनिश्चितकालीन हड़ताल का नोटिस देने और हड़ताल की तारीख की घोषणा करने के लिए दो दिनों के भीतर एक समिति का गठन किया जाएगा।

कर्मचारी संगठनों ने OPS को लागू करने के लिए दबाव बढ़ाया

बता दें कि केंद्र और अलग-अलग सरकारों के कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के लिए पिछले साल से ही आंदोलन कर रहे हैं। कर्मचारी संगठनों ने विभिन्न तरीकों से अपनी बात सरकार तक पहुंचाने का प्रयास किया है। नई दिल्ली के रामलीला मैदान में पिछले साल 10 अगस्त को सरकारी कर्मचारियों की विशाल रैली हुई थी। इस रैली में लाखों कर्मचारियों ने हिस्सा लिया था 1 अक्टूबर को रामलीला मैदान में ही पेंशन शंखनाद महा रैली आयोजित की गई थी।

अनिश्चितकालीन हड़ताल की आशंका जताई

लोकसभा चुनाव से पहले पुरानी पेंशन लागू होती है। तो भाजपा को इसका खामियाजा भुगतना नहीं पड़ेगा। वरना काफी ज्यादा भुगतना पड़ेगा इसका खामियाजा कर्मचारियों पेंशनरों को मिलाकर यह संख्या 10 करोड़ के पार चली जाती है।

यह भी पढ़ें – पीएम मोदी ने किया 30,500 करोड़ से विकास परियोजनाओं के शिलान्यास एवं लोकार्पण

रेलवे और रक्षा क्षेत्र के कर्मचारी भी हड़ताल

चुनाव में बड़ा उलटफेर करने के लिए यह संख्या बहुत ही निर्णायक है। देश के दो बड़े कर्मचारी संगठन रेलवे और रक्षा ने अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए अपनी सहमति भी दे दी है। रेलवे के 11 लाख के कर्मचारियों में से 96 फ़ीसदी कर्मचारी ओपीएसएस अलावा रक्षा विभाग के 4 लाख कर्मचारियों में से 97 फ़ीसदी कर्मचारी हड़ताल के पक्ष में है। 20 और 21 नवंबर को 400 डिफेंस यूनिट 7349 रेलवे स्टेशन मंडल और जोन दफ्तर 42 रेलवे वर्कशॉप और सात रेलवे प्रोडक्शन यूनिटों पर स्ट्राइक बैलेट के तहत नोट डाले गए थे।

यह भी पढ़ें – DA Hike: लोकसभा चुनाव से पहले कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, DA- में वृद्धि और एरियर का भी मिलेगा लाभ

Author

Leave a Comment

Your Website