पोस्ट ऑफिस ने निकाली बम्पर स्कीम गारंटी के साथ होगी कमाई, मंथली इनकम भी फिक्स्ड होगी 

पोस्ट ऑफिस अगर रिटायरमेंट के बाद परेशानी से बचने के लिए और अपनी जिंदगी में आने वाले आर्थिक समस्याओं से बचने के लिए प्री प्लानिंग सोच रहे हैं या फिर अपना कीमती पैसा अपने भविष्य के लिए इनवेस्ट करने का सोच रहे हैं तो आज हम आपको बताने वाले हैं एक बेहतर विकल्प आपने पोस्ट ऑफिस बैंक के बारे में तो सुना ही होगा, हाल ही में पोस्ट ऑफिस द्वारा काई तरह की निवेश योजना निकाली गई है जिसका नाम मंथली इनकम स्कीम है जो कि आपकी बहुत लाभकारी हो सकती है और यह योजना आपको सुरक्षित रिटर्न प्रदान कर सकती है। 

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (MIS) में निवेश करने के लिए आपको एकमुश्त राशि मतलब आपको एक साथ पैसा जमा करना पड़ता है। जिसकी मैच्योरिटी पैसा जमा करने के 5 साल बाद होती है। सीधे शब्दों में कहें तो स्कीम के मैच्योर होने पर आपको एक फिक्स्ड इनकम  गारंटी से मिलने लगेगी। 

जानकारी के लिए बता दें कि मंथली इनकम स्कीम (MIS)  का खाता आप मात्र ₹1000 में खुलवा सकते हैं। पोस्ट ऑफिस MIS  सिंगल खाता धारक एक बार में ज्यादा से ज्यादा 9 लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं। वही आपको बता दें कि अगर आपका ज्वाइंट अकाउंट है या आप ज्वाइंट अकाउंट धारक है तो आप 9 लाख की जगह 15 लाख तक की राशि एक साथ जमा कर सकते हैं। इस इस्कीम में आपको 7.4% का ब्याज मिलता है जिससे हर महीने आपको अच्छा खासा रिटर्न मिल सकता है। 

मंथली इनकम स्कीम (MIS) पर ब्याज दर   

अब आपको बताते हैं कि इसमें क्या रेट है मंथली इनकम स्कीम (MIS)  में आप मात्र ₹1000 से भी निवेश कर सकता हैं  मंथली इनकम स्कीम (MIS)  में ब्याज की दर 7.4% है, जो आपको एक एकमुश्त राशि जमा करने पर आपको हर महीने की आय के रूप में मिलेगी। 

मंथली इनकम स्कीम (MIS) का लाभ लेने के लिए क्या करें? 

मंथली इनकम स्कीम (MIS) का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको MIS का खाता खोलना होगा। आप MIS का खाता पोस्ट ऑफिस की किसी भी शाखा से जाकर खुलवा सकते हैं। MIS का खाता खोलने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। मंथली इनकम स्कीम में खाता खोलने के लिए आपको अपने सारे जरूरी दस्तावेज पोस्ट ऑफिस में जमा करवाने होते हैं। इसके बाद आप पोस्ट ऑफिस से MIS का फार्म लेकर केवाईसी फार्म और पैन कार्ड के साथ जमा करें। इसके बाद आपका MIS का ख़ता खुल जाएगा। 

क्या होगा अगर स्कीम मैच्योर होने से पहले ही तोड़ दी जाए ? 

आइये जानते हैं कि यदि आप तय तारीख यानि कि 5 साल की मैच्योरिटी से पहले ही बीच में खाता बंद कर देते हैं तो क्या होगा ? खाता 1 साल बाद और मैच्योर होने से 3 साल पहले बीच में बंद किया जाए तो आपकी जमा की हुई राशि मतलब आपकी मूल राशि में से 2% की कटौती हो जाएगी जिसको आपको स्वीकार करना ही होगा। अब अगर आप अपना खाता 3 साल बाद बंद कर देते हैं तो आपकी मूल राशि में से 1% की कटौती हो जाएगी। यह इस योजना के अहम नियम है जिसको हर खाताधारक को मानना ही पड़ता है।  

3 लाख की जमा राशि पर 20000 रुपये मिलेंगे। 

यदि आप मासिक आय योजना में 3 लाख की राशि जमा करते हैं तो आपको 5 साल की मैच्योरिटी पर 20000 रुपये मिलेंगे। साथ ही आपको जमा की हुई राशि पर 7.4% की छूट मिलेगी, जिसमें आपको हर महीने 1650 रुपये मिलेंगे। 

इसे भी पढ़ें –  SBI का सरल पेंशन प्लान, रिटायरमेंट के बाद भी मिलती रहेगी सैलरी

Author

Leave a Comment

Your Website