जुड़वा बच्चों को लेकर नया नियम, दो इंक्रीमेंट के साथ जुड़वा बच्चों को सिंगल चाइल्ड मानेगी शिवराज सरकार

MP News: मध्यप्रदेश सरकार ने जुड़वा बच्चों को लेकर नया नियम जारी कर दिया है जी हाँ दोस्तों मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यह घोषणा किया है कि अब प्रदेश में जुड़वा बच्चों को सिंगल चाइल्ड माना जायगा इतना ही नहीं बल्कि यदि आप पहली डिलीवरी में हुए जुड़वा बच्चों के बाद नसबंदी कराते हैं तो आपको सरकार दो इंक्रीमेंट भी देगी। आपको बता दें कि केंद्र सरकार समेत देश के लगभग 10 राज्यों में जुड़वा बच्चों को सिंगल चाइल्ड माना जाता है और अब यह नियम मध्यप्रदेश में भी लागू हो गया है। 

मध्य प्रदेश सरकार ने जुड़वा बच्चों के नियम में संशोधन किया है। जिसका फायदा सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा क्योंकि जुड़वां बच्चे होने के बाद शासकीय सेवक या उनकी पत्नी नसबंदी करा लेते थे परन्तु अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि जुड़वा बच्चों को सिंगल चाइल्ड ही माना जायेगा और इंक्रीमेंट समेत तमाम फायदे दिए जाएंगे इस फैसले के बाद मध्य प्रदेश देश का 10वां ऐसा राज्य होगा जहां पहली डिलीवरी में जुड़वा बच्चे पैदा होने पर सिंगल चाइल्ड माना जाता है।

सरकारी कर्मचारी हुए खुश 

दरअसल, अब तक प्रदेश में जुड़वा बच्चों को अलग-अलग चाइल्ड माना जाता था। लेकिन अब प्रदेश में जुड़वा बच्चों को सिंगल चाइल्ड माना जाएगा। यानि अब जुड़वा बच्चा पैदा होने की स्थिति में तीन बच्चे वाले भी नौकरी में बने रहेंगे। इसके अलावा सरकार के आदेश में यह भी कहा है कि पहली डिलीवरी में जुड़वा बच्चा पैदा होने के बाद नसबंदी कराते हैं तो सरकारी कर्मचारियों को दो इन्क्रीमेंट दिए जाएंगे।

इससे पहले यह था नियम 

मप्र सरकार ने बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए 1980 के दशक में ‘हम दो हमारे दो’ को लागू किया गया, इसका पालन करने वालों को अतिरिक्त सुविधाओं का लाभ दिया गया, 1996-97 में इसे सिंगल चाइल्ड कर दिया गया, तब एक बच्चा होने के बाद नसबंदी कराने वालों को दो इन्क्रीमेंट का फायदा दिया जाने लगा था।

इसे भी पढ़ें – मुख्यमंत्री फ्री स्कूटी योजना की लिस्ट कैसे देखें 2023

लेकिन पहली डिलीवरी में जुड़वां बच्चे हुए तो सिंगल चाइल्ड मानते हुए लाभ नहीं मिलता था अब इसमें संशोधन किया गया है, अब यदि पहले जुड़वां बच्चे होंगे के बाद शासकीय सेवक या उनकी पत्नी नसबंदी करवा लेती हैं तो उसे सिंगल चाइल्ड ही माना जायेगा और तो इंक्रीमेंट दिए जायेंगे।

इसे भी पढ़ें – करोड़ों बहनों को मिलेगी दूसरी किश्त, DBT और SMS अलर्ट ऑन रखें

Author

  • Princi Soni

    I have been writing for the Apna Kal for a few years now and I love it! My content has been Also published in leading newspapers and magazines.

Leave a Comment

Your Website