my school essay in Hindi मेरा स्कूल पर निबंध

Last Updated on 2 years ago

                                                             My school essay in HindiMy-school-essay-in-Hindi (2)

 

मेरा स्कूल पर निबंध (my school essay in hindi)

स्कूल जिसे हम पाठशाला कहते हैं स्कूल केवल हमें पढ़ना लिखना ही नहीं सिखाता अपितु हमें सभ्य और आदर्श भी बनाता है स्कूल हमारे जीवन की प्रारंभिक शिक्षा होती है। स्कूली शिक्षा की वजह से हमारे जीवन में अनेकों बदलाव होता है। स्कूल हमें हमारी देश की सभ्यता संस्कृति से जोड़ती है स्कूल की वजह से हमारे जीवन में शिक्षा का सूर्यदय होता है।आई हम जानते हैं my school essay in Hindi मेरा स्कूल पर निबंध को विस्तार से जानते हैं आखिरकार स्कूल का हमारे जीवन में कितना महत्व है।

 

स्कूल क्या होता है
स्कूल का हमारे जीवन में क्या महत्व है
मेरा स्कूल कैसा है

Let’s start the topic essay on my school in Hindi

स्कूल क्या होता है

एक ऐसी संस्था जहां से हमारे जीवन के प्रारंभिक शिक्षा की शुरुआत होती है। जिनके छत्रछाया में हमारा बचपन हंसता खेलता बीतता है।स्कूल की वजह से हमारे जीवन में ढेर सारा बदलाव होता है। स्कूल हमारे जीवन का उचित मार्गदर्शन करता है जिनकी वजह से हम अपने जीवन में सही फैसले लेने में कामयाब हो पाते हैं।

 

स्कूल का हमारे जीवन में क्या महत्व है।

स्कूल हमारे जीवन का एक ऐसा दौर होता है जहां हमारे जीवन में शिक्षा प्रणाली का विकास बहुत ही तेजी से होता है। स्कूल हमें अनुशासित और विनम्र बनाती है। स्कूल हमें हमारी सभ्यता और संस्कृति से हमें जोड़ती है और उनके बारे में हमें विस्तार से बताती है सामाजिक आर्थिक राजनीतिक हर पहलू से हमें परिचित कराती है। हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है।

मेरा स्कूल कैसा है

हमारे विद्यालय का नाम विद्या मंदिर पाठशाला है। यह
दिल्ली जनकपुरी में स्थित है । यहां कक्षा 1 से कक्षा 12 तक की शिक्षा दी जाती है। हमारे विद्यालय में लगभग 2000 विद्यार्थी पढ़ते हैं। हमें लगभग अच्छी योग्य अध्यापकों द्वारा शिक्षा दी जाती है।

विद्यालय का भवन – हमारे विद्यालय का भवन बहुत सुंदर बना हुआ है। विद्यालय के भवन में प्रवेश करते ही फुलवारी है जिसकी हरी हरी ,घास रंग बिरंगे ,फूल तथा फैली हुई लताएं आने वालों का मन मोह लेता है। विद्यालय के बीचो बीच एक विस्तृत मैदान है जहां प्रार्थना होती है तथा खेल के समय खेल खिलाए जाते हैं। हमारे स्कूल में 40 कमरे तथा एक बड़ा हॉल है । हमारे विद्यालय के सभी कमरे साफ-सुथरे तथा हवादार है। प्रत्येक कमरे में श्यामपट्ट तथा गुरुजी के बैठने के लिए कुर्सी और मेज रखी होती है। कमरों में बच्चों के बैठने का भी उचित प्रबंध है । प्रत्येक कमरे की दीवारों पर शिक्षा उपयोगी चार्ट लगे हुए हैं । विद्यालय के हॉल में समय-समय पर बाल सभा का कार्यक्रम होता रहता है। विद्यालय में एक पुस्तकालय है जहां अनेक पुस्तकें हैं और समाचार पत्र रखे होते हैं ।

विद्यालय के अध्यापक – हमारे विद्यालय के सभी अध्यापक बड़े ही योग्य ,परिश्रमी तथा अपने-अपने विषयों के विशेषज्ञ हैं । हमारे विद्यालय में एक प्रधानाचार्य तथा एक उप प्रधानाचार्य है । हमारे प्रधानाचार्य जी बहुत ही योग्य ,उदार तथा अनुशासन प्रिय है। हमारे सभी अध्यापक बच्चों को बहुत प्यार से पढ़ाते हैं। हम सभी बच्चे हैं अपने गुरुजनों का आदर करते हैं तथा उनके आदेशों का पालन करते हैं। हमारे विद्यालय का वार्षिक परीक्षा परिणाम बहुत अच्छा आता है।

अन्य कार्यक्रम – हमारे विद्यालय में समय-समय पर खेल आदि भी कराए जाते हैं। हमारा विद्यालय प्रत्येक वर्ष खेल-कूद, वालीबॉल ,कबड्डी ,भाषण प्रतियोगिता आदि में कोई ना कोई पुरस्कार प्राप्त करता रहा है। सफाई तथा अनुशासन हमारे विद्यालय की प्रमुख विशेषता है। विद्यालय के इन गुणों के कारण ही हम सब अपने विद्यालय से प्यार करते हैं।

स्कूल के बारे में 10 लाइन

हमारा स्कूल का नाम विद्या मंदिर पाठशाला है जिसमें 2000 छात्र और छात्राएं पढ़ाई करते हैं

हमारे स्कूल में कुल 20 अध्यापक और एक प्रधानाचार्य है सभी अध्यापक हमें अलग-अलग विषयों का अध्ययन कराते हैं।

हमारे स्कूल से प्रतिवर्ष 95% परीक्षार्थी उत्तरीन होते हैं। जिसके कारण हमारा स्कूल पूरे देश भर में प्रसिद्ध है

हमारे स्कूल में एक कंप्यूटर लैब है जहां हमें डिजिटल टेक्नोलॉजी के बारे में पढ़ाया जाता है

स्कूल हमारे जीवन में शिक्षा प्रणाली की पहली पायदान है जहां से हम चलना प्रारंभ करते हैं

स्कूल में अध्यापक के द्वारा हमें कई विषयों की पढ़ाई करवाई जाती है जिसमें गणित, हिंदी, विज्ञान, भूगोल, राजनीति शास्त्र, इंग्लिश अन्य कई विषयों को पढ़ाया जाता है।

स्कूल में हर साल अनेक प्रतियोगिताएं होती रहती है जहां हमें अनेक अवसर प्रदान की जाती है ताकि हम अपनी योग्यता को साबित कर सकें

हमारी स्कूल में प्रतिवर्ष साल के अंत में वार्षिक परीक्षा होती है जिसके लिए हम पूरे साल मेहनत करते हैं। इस प्रकार परीक्षा के माध्यम से स्कूल हमें मेहनत के महत्व को भी भली-भांति समझा देता हैं।

स्कूल हमें हमारे देश की सभ्यता और संस्कृति से हमें परिचित करवाती है ताकि हम इसे भली-भांति समझ सके और इसका स्मरण कर सकें

स्कूल हमें हमारी अंधविश्वास से दूर करती है और फिर हमें हमारी वास्तविक शक्तियों से परिचित करवाती है।

I hope guys you love this article my school essay in hindi

इसे भी पढ़े 

essay on internet in hindi

essay on education in hindi

essay on social media in hindi

interesting story in hindi 

एक रहस्य्मय कहानियां 

 

लेखक के बारे में

  • Princi Soni

    I have been writing for the Apna Kal for a few years now and I love it! My content has been Also published in leading newspapers and magazines.

अपने दोस्तों को शेयर करें !!

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status