सिर्फ 800 रुपए कमाने वाली नीता अंबानी के सामने धीरूभाई ने रखी ‘यह’ शर्त, फिर मुकेश अंबानी की सहमति से हुई शादी

Last Updated on 4 weeks ago

मुकेश अंबानी नीता अंबानी लव स्टोरी: अंबानी परिवार में भारत के सबसे अमीर लोग शामिल हैं। इस परिवार में हर चीज पर सबका ध्यान है। लेकिन आप जानते हैं कि धीरूभाई ने गरगंज के एक अमीर परिवार की बहू के चयन के लिए उनके सामने एक शर्त रखी थी। इसी तरह नीता अंबन को उनके ड्रीम प्रिंस ने बेहद रूखे अंदाज में प्रपोज किया था। सब्र करने वाले मुकेश अंबानी की प्रेम कहानी पढ़कर आप भी अभिभूत हो जाएंगे।

मुकेश अंबानी और नीता अंबानी के खानदानी घर में जो कुछ होता है उस पर सबकी नजर है. मुकेश अंबानी की सफलता का श्रेय नीता अंबानी को जाता है। इन दोनों नामों को उच्च सम्मान में रखा जाता है। 8 मार्च 1985 को शादी के बंधन में बंधने के बाद पिछले 37 सालों में मुकेश अंबानी की सफलता का श्रेय उनकी पत्नी को दिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस अमीर घराने की बहू का चुनाव कैसे हुआ? सबसे अमीर अंबानी परिवार ने एक मध्यमवर्गीय परिवार की लड़की को बहू के रूप में क्यों पसंद किया? आपने यह सवाल जरूर पूछा होगा। हमेशा खुशमिजाज मुद्रा में रहने वाली नीता को पहली बार धीरूभाई अंबानी ने ‘बिड़ला मातोश्री’ में एक नवरात्रि कार्यक्रम में डांस करते हुए देखा था। इस मौके पर धीरूभाई और कोकिलाबेन अंबानी दोनों ही मौजूद थे। (फोटो साभार: योगेन शाह, @radhikamerchant_)

उन्होंने नीता अंबानी को ‘बिड़ला मातोश्री’ में एक नवरात्रि कार्यक्रम में नृत्य करते देखा था। दूरदर्शी धीरूभाई अंबानी तब जानते थे कि नीता उनके घर की सबसे अच्छी बहू थीं। उस वक्त धीरूभाई अंबानी ने नहीं देखा कि नीता फिलहाल एक स्कूल में टीचर हैं और उनकी सैलरी महज 800 रुपए है।

नीता को देखने के बाद धीरूभाई अंबानी ने उन्हें घर बुला लिया। लैंडलाइन फोन के उन दिनों में नीता के पिता ने सुनिश्चित किया कि उन्हें जो फोन मिले वह धीरूभाई अंबानी का हो और फिर ‘अरेंज मैरिज’ की कहानी आगे बढ़े।

नफा-नुकसान और आंकड़ों में माहिर मुकेश अंबानी यहां भी जीत गए हैं. एक दिन जब नीता और मुकेश शाम को मुंबई के पेदार रोड से गाड़ी चला रहे थे, तो उनकी कार एक ट्रैफिक सिग्नल पर रुकी, मुकेश ने फिल्मी अंदाज में नीता से पूछा। , मुझसे शादी करोगी? नीता ने शरमाते हुए मुकेश से गाड़ी चलाने को कहा। लेकिन मुकेश अंबानी ने नीता से कहा कि जब तक वो जवाब नहीं देंगी मैं गाड़ी नहीं चलाऊंगा. इसके बाद नीता ने मुकेश का प्रपोजल एक्सेप्ट कर लिया। और उनका सुखी जीवन शुरू हो गया।

इस शादी में नीट की भी एक शर्त थी। नीता ने मुकेश सर के सामने शर्त रखी थी कि वह काम करना नहीं छोड़ेंगी। उसने वह शर्त भी मान ली। शादी के बाद भी नीता अंबानी कुछ सालों तक स्कूल टीचर के तौर पर काम करती रहीं। प्रेग्नेंसी के चलते उन्होंने वह जॉब छोड़ दी थी। लेकिन मैंने नीता के सामने एक शर्त रखी थी कि अगर तुम मेरी तरह आम आदमी की तरह रहोगी तो मैं तुमसे शादी करूंगा। मुकेश अंबानी भी ऐसा करने को तैयार थे और उन्होंने मुंबई में डबल डेकर बसों में यात्रा करना, चौपाटी जाना और पानी पुरी खाना पसंद किया।

मुकेश अम्बानी और नीता अम्बानी किसी भी स्थिति में एक दुसरे का साथ देते नज़र आते है, चाहे व्यापार से सम्बंधित हो या परिवार से सम्बंधित, दोनों के पास सब कुछ एक साथ है जब व्यक्ति को पता चलता है कि कोई उसके साथ है तो वह भावनात्मक रूप से मजबूत रहता है। उस वक्त आधे से ज्यादा टेंशन दूर हो जाता है। इसलिए आपको अपने पार्टनर के साथ भी ऐसा ही करना चाहिए। 

इसे भी देखें – सुशांत सिंह राजपूत की आँखों में मुक्का मारा गया था पोस्टमार्डम रूम में मौजूद कर्मचारी का बड़ा खुलासा कहा बॉडी पर चोट के निशान मिले थे

लेखक के बारे में

  • Princi Soni

    I have been writing for the Apna Kal for a few years now and I love it! My content has been Also published in leading newspapers and magazines.

अपने दोस्तों को शेयर करें !!

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status