MP News: मध्य प्रदेश में पटवारियों की नियुक्ति के आदेश, लेकिन दूसरी तरफ 9 लाख अभ्यर्थी नाराज

MP News: मध्य प्रदेश में पिछले साल हुए पटवारी परीक्षा में चयनित पटवारियों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। लेकिन दूसरी तरफ परीक्षा में बैठे 9 लाख से अधिक उम्मीदवार इस बात से नाराज़ है। और इसी बात को लेकर सड़कों पर प्रदर्शन करने की तैयारी में है।

विभाग ने दिया नियुक्ति का आदेश

मध्य प्रदेश पटवारी परीक्षा 2023 में परीक्षा परिणाम आने के बाद धांधली और घोटाले के आरोप लगाए गए थे जिसके बाद जमकर विवाद हुआ और फिर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नियुक्तियां रद्द कर जांच के आदेश दिए। और फिर सरकार द्वारा जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया। और अब बीते गुरुवार को समिति ने क्लीनचिट दिखाई और चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति के आदेश दिए।

पटवारी भर्ती घोटाले में जांच के लिए बनाई गई समिति जिसमें शामिल हैं जस्टिस राजेंद्र वर्मा की रिपोर्ट के अनुसार मध्य प्रदेश पटवारी भर्ती परीक्षा में किसी भी तरह के घोटाला की पुष्टि नहीं पाई गई है। और गुरुवार को सामान्य प्रशासन विभाग ने कर्मचारी चयन मंडल द्वारा अयोजित पटवारी भर्ती में ग्रुप 2, सब ग्रुप 4 और पटवारी के परीक्षा परिणाम के आधार पर नियुक्ति करने के निर्देश विभाग को दिए।

9 लाख परीक्षार्थियों की प्रदर्शन की तैयारी

दरअसल मध्य प्रदेश पटवारी परीक्षा घोटाले में जांच करने के बाद किसी भी तरह का घोटाला और धांधली सामने नहीं आई है और इस रिपोर्ट की नामांजुरी पटवारी परीक्षा में शामिल 9 लाख से अधिक परीक्षार्थियों द्वारा की गई जिसके लिए अब ये सभी परीक्षार्थि सड़कों में प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश पटवारी परीक्षा परिणाम 10 टॉपर्स में से 7 टॉपर्स ग्वालियर के एनआरआई परीक्षा केंद्र में शामिल थे और इस केंद्र से 114 उम्मीदवार परीक्षा पास कर चयनित हुए हैं इस तरह की कई सारी समानताएं देखने को मिली जिससे यह साफ है कि परीक्षा में घोटाला हुआ है लेकिन जांच समिति ने क्लीन चिट दिखाई और कहा कि यह सिर्फ एक संयोग है।

यह भी पढ़ें – MP News: सीएम मोहन यादव का एक और ऐलान, गरीबों को आसरा और युवाओं को मिला रोजगार, देखें क्या है पूरा मामला

पटवारी भर्ती घोटाले की जांच को लेकर विपक्ष पार्टी कांग्रेस और लाखों छात्राओं का कहना है कि सरकार ने जांच के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की है। व्यापम 1 और व्यापम 2 तरह पटवारी भर्ती भी एक घोटाला है। इसलिए CBI जांच करने की मांग छात्र संघ द्वारा की जा रही है।

Author

Leave a Comment

Your Website