MP News: मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल कैसे करेंगे परफेक्ट काम? मंत्रियों की पॉलिटिकल एक्सपर्ट के द्वारा होगी ट्रेनिंग

भाजपा के मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव की तैयारी के दौरान भाजपा की सरकार और संगठन दोनों ही आगे बढ़ रहे हैं। मोहन यादव द्वारा अपने मंत्रियों को सुशासन का पाठ पढ़ाने और उन्हें नेतृत्व के गुड़ समझाने की पहल की जा रही है। मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर भाजपा में सरकार और संगठन दोनों ही आगे बढ़ रहे हैं। जहां एक और पार्टी के प्रदेश स्तर के सभी दिग्गज नेताओं को टारगेट देकर मैदान में डटे रहने की नसीहत दी गई है तो वही मोहन सरकार के मंत्रियों को सुशासन का पाठ पढ़ाया जा रहा है लीडरशिप के गुड़ सिखाए जा रहे हैं।

भोपाल में दो दिवसीय सत्र में ट्रेनिंग

दो दिवसीय सत्र में भोपाल में आयोजित ट्रेनिंग में प्रदेश के सभी मंत्रियों की भागीदारी हो रही है। लोकसभा तैयारी को लेकर मोहन सरकार अपने कार्य को लेकर काफी गंभीर है और मंत्रियों को बताया जा रहा है कि वह अपने विभागों को किस तरह चलाएं। मध्य प्रदेश में सरकार द्वारा मंत्रियों को 3 और 4 फरवरी को दो दिवसीय सत्र में भोपाल में ट्रेनिंग दी जा रही है। इस ट्रेनिंग में प्रदेश के सभी मंत्री शामिल हैं। लीडरशिप के पहले दिन भारत संकल्प विषय पर पर चर्चा की गई और दूसरे दिन सुबह 10 बजे से शाम 7:30 बजे तक विभिन्न सत्रों के आयोजन के विषय में बताया गया।

सुशासन संस्थान का ट्रेनिंग का मॉडल

कार्य प्रणाली अवसर एवं चुनौतियां आकांक्षाएं एवं संकल्प भारत सरकार की अहम पहल प्रौद्योगिकी एवं सुशासन विषय पर सत्रों का आयोजन है। दरअसल किसी भी सरकारी विभाग में अगर कामकाज होता है तो उसका एक फ्लो आउट सिस्टम रहता है। यही सिस्टम समझने के लिए अटल बिहारी वाजपेई सुशासन संस्थान ने ट्रेनिंग का मॉडल तैयार किया है। दो दिनों के इस सम्मेलन में यह सब सिखाया जाएगा कि विभाग का बजट कैसे मैनेज किया जाए। विभाग में किसी भी काम की फाइल को कैसे जल्दी आगे बढ़ाया जाए। विभाग के कर्मचारियों को बेहतर काम करने के लिए कैसे निर्देशित किया जाए।

मंत्रियों की पाठशाला को लेकर कांग्रेस का तंज

कामकाज के दौरान पारदर्शिता किस तरह की हो अगर विभाग में कुछ खरीदी की जाए। तो उस टेंडर को कैसे मैनेज किया जाए यहां पर ऐसे कई कामों को लेकर ट्रेनिंग दी जाएगी। वर्तमान मंत्रिमंडल में अधिकांश नेता ऐसे हैं जो पहली बार मंत्री बने हैं। हालांकि मंत्रियों की पाठशाला को लेकर कांग्रेस का तंज है। कांग्रेस का कहना है कि रबर स्टैंप जैसे मंत्रियों को कितना भी ट्रेनिंग दे दें। लेकिन प्रदेश में सरकार केंद्र शासित ही है और सभी निर्णय दिल्ली से ही हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें – CM Ladli Bahna Yojana: मुख्यमंत्री मोहन यादव का ऐलान, 10 फरवरी को जारी होगी 9वीं किस्त

डॉक्टर मोहन यादव की नेतृत्व में मंत्रियों को सुशासन का पाठ

डॉक्टर मोहन यादव की नेतृत्व में सरकार के सुशासन को मजबूत किया जा रहा है। सभी मंत्रियों को सुशासन का पहला पाठ पढ़ाया गया। सभी मंत्रियों को चाहे वह नएहों, बीजेपी का यह कहना है कि पार्टी ने आपको बनाया है। इसलिए आप अब आप पार्टी के लिए काम करें। जैसे आप परिवार के लिए काम करते हैं। देश के लिए काम करते हैं। वैसे ही आपको पार्टी के लिए सोचना होगा। जब इस मंत्र के साथ आप काम करेंगे तो सभी काम आपका सही होगा। जब से डॉक्टर मोहन यादव ने सीएम की कुर्सी संभाली है तब से प्रदेश में तब से सभी को सुशासन का पाठ सिखाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें – MPPSC परीक्षा 2023: तारीख बढ़ाने की मांग को लेकर छात्रों ने किया 20 घंटे तक प्रदर्शन

Author

Leave a Comment

Your Website