MP News: सीएम मोहन यादव का एक और ऐलान, गरीबों को आसरा और युवाओं को मिला रोजगार, देखें क्या है पूरा मामला

MP News: मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव राज्य के विकास में रात दिन कार्य कर रहे हैं। और पिछले 60 दिनों में राज्य के विकास हेतु कई तरह के फैसले लिए जिनसे सरकारी कर्मचारियों, महिलाओं, किसानों, गरीबों और युवाओं का हित होगा। आज हम यहां इन्हीं परियोजनाओं के बारे मे जानेंगे।

मध्य प्रदेश में आया रामराज्य

देश की बड़ी न्यूज वेबसाइट ABP Live की एक रिपोर्ट में यह परिकल्पना की गई कि मध्य प्रदेश में रामराज्य आ चुका है। क्योंकि रामराज्य की मूल अवधारणा निहित शासन, त्वरित न्याय, बेहतर और खुशहाल समाज है। और यह सभी कुछ मोहन सरकार में देखने को मिल रहा है। हाल ही में मोहन सरकार द्वारा चित्रकूट-ओरछा सहित प्रदेश में राम वन गमन पथ का विकास कार्य शुरु हो चुका है। और इस तरह भगवान राम के चरण प्रदेश के जिस भी कोने में पड़ें हैं उन सभी जगहों को तीर्थस्थल बनाने का कार्य प्रगति पर है।

मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने रामराज्य और सुशासन की अवधारणा से प्रेरित होकर धर्म, प्रगति, विकास के बेहतर समन्वय के रुप में उज्जैन में व्यापार मेले और उद्योग मेले का आयोजन करने का ऐलान भी किया है। ताकि प्रदेश में धार्मिक, सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और आर्थिक विकास भी हो। इसके साथ ही बाबा महाकाल की नगरी में हवाई यात्रा की सुविधा भी जल्द उपलब्ध होगी। और मध्य प्रदेश के सभी धार्मिक घाट अयोध्या और हरिद्वार की तरह विकसित किए जाएंगे।

गरीबों को मिलेगा पक्का घर

मध्य प्रदेश में गरीबों को घर देने के मामले में मध्य प्रदेश अव्वल नंबर पर है और यह कार्य आगे भी जारी रहेगा। क्योंकि गरीब परिवार अपने घर का सपना सजाए बैठे रहते हैं लेकिन किसी भी व्यक्ति के लिए अपने घर के आर्थिक खर्चों के साथ घर बनाने के लिए पूंजी इकट्ठा करना मुमकिन नहीं होता है। लेकिन केन्द्र और राज्य सरकार की इन योजनाओं से गरीब परिवारों को पक्का मकान बना कर दिया जा रहा है।

मध्य प्रदेश में पीएम ग्रामीण आवास योजना के तहत 38 लाख 415 आवास निर्माण का लक्ष्य रखा गया था जिसमें 36 लाख 40,371 आवास बन चुके हैं केवल 3.79 लाख बनने बाकि है और जल्द ही ये आवास भी बन कर पूर्ण हो जाएंगे क्योंकि इन आवास पर भी निर्माण कार्य चल रहा है। आवास निर्माण के साथ ही घर के सदस्यों को अपने ही घर के निर्माण कार्य के लिए मनरेगा पर काम मिल जाता है और शौचालय निर्माण हेतु 12 हज़ार रुपए अलग से दिए जाते हैं।

यह भी पढ़ें – रेलवे ने निकाली 9000 पदों पर बंपर भर्ती, आयु सीमा 36 वर्ष और सैलरी 29200 तक, इस दिन होंगे आवेदन

मध्य प्रदेश में युवाओं को मिल रहा रोजगार

मध्य प्रदेश में युवाओं को भी रोजगार के नए अवसर मिल रहे हैं। परंपरागत शिक्षा के साथ औद्योगिक एवं व्यवसायिक शिक्षा भी मध्यप्रदेश सरकार द्वारा दी जा रही है कौशल विकास योजना/ सीखो कमाओ योजना जैसी तमाम योजनाएं चलाई जा रही है ताकि युवाओं के कौशल में विकास किया जा सके और रोजगार के नए अवसर उपलब्ध हो। मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के अंतर्गत पंजीकृत युवाओं को प्रशिक्षण और हर महीने 10 हजार रुपए स्टाइपेंड भी बैंक DBT खाते में दिया जा रहा है। और आय दिन एक नई सरकारी नौकरी के रिक्त पदों पर भर्ती भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश पटवारी परीक्षा: नौ लाख पटवारी उम्मीदवार नाराज, भोपाल की सड़कों पर प्रदर्शन की तैयारी

Author

Leave a Comment

Your Website