MP News: मध्य प्रदेश के किसान भी हुए नाराज, 16 फरवरी को भारत बंद, देखें किसान और सरकार की बड़ी चर्चा

देश की किसानों द्वारा MSP की मांगों को लेकर आंदोलन किया जा रहा है और किसान मोर्चा को मध्य प्रदेश के किसानों का भी साथ देखने को मिल रहा है क्योंकि भाजपा सरकार ने मोदी की गारंटी के साथ किसानों से किए वादों को पूरा नहीं कर रही है। और इसी बात से नाराज़ किसान 16 फरवरी को भारत बंद करने जा रहे हैं।

16 फ़रवरी को भारत बंद

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा कल 16 फ़रवरी को भारत बंद करने की चेतावनी दी गई है। और यह विरोध प्रदर्शन सुबह 6 बजे से जारी है। और शाम 4 बजे तक विरोध जारी रहेगा। किसान मोर्चा द्वारा केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के साथ मिल कर भारत बंद करने की पूरी तैयारी कर ली गई है।

केन्द्र सरकार पर बना रहे दबाव

संयुक्त किसान मोर्चा ने केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों के साथ कल 16 फ़रवरी को भारत बंद करने की चेतावनी दी गई और इस तरह केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है। किसान मोर्चा ने सभी समान विचार धारा वाले किसानों से एक जुट होकर भारत बंद करने का आग्रह किया है। और भारत बंद करने के तहत सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।

अगर कल भारत बंद रहता है तो परिवहन, कृषि कार्य, मनरेगा कार्य, ग्रामीण कार्य, शासकीय एवं निजी कार्यालय, दुकानें, मेडीकल स्टोर्स, शादी विवाह, इमरजेंसी सुविधाएं जैसे एंबुलेंस, अखबार, आदि प्रभावित होने की संभावना है और फिलहाल में बोर्ड परिक्षाएं भी चल रहीं हैं जिससे छात्र छात्राओं के परीक्षा परिणाम भी प्रभावित हो सकते हैं।

देखें क्या है किसानों की मांग

यह दूसरा किसान आंदोलन है और इस बार किसानों की मांग में MSP की गारंटी शामिल है। और MSP वह सुनिश्चित मूल्य है जिस सरकार या उनकी एजेंसी किसानों से फसलें खरीदती है। इसके साथ ही किसान मनरेगा को विस्तार देने और श्रमिकों के लिए पेंशन और सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

इसके आलावा किसानों की तरफ़ से एसकेएम ने पीएम मोदी को पत्र लिखा गया जिसमें MSP, खरीद की कानून गारंटी, किसान कर्ज़ माफ, बिजली दरों में बढ़ोत्तरी न करने की मांग, स्मार्ट मीटर नहीं लगवाने की मांग, खेती के लिए 300 यूनिट बिजली फ्री, कंप्रेसिव कांप्रहेसिव फ़सल बीमा और पेंशन राशि 10 हजार रुपए प्रतिमाह करने की मांग की गई।

इसे भी पढ़ें – मध्यप्रदेश के इन जिलो में सरकार करेगी 6 लेन हाईवे का निर्माण, 145 गांव से होगा जमीन का अधिग्रहण 

मध्य प्रदेश के किसानों का भी कूच जारी

न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए मध्य प्रदेश के किसान भी आंदोलन में शामिल होने जा रहे हैं हालांकि किसान नेता को इंदौर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और इस बात का विरोध किसान संगठन और परिजनों द्वारा लगातार किया जा रहा है। किसानों द्वारा “दिल्ली चलो” का मार्च ऐलान हो गया इसके बाद दिल्ली और हरियाणा में धारा 144 लागू कर दी गई है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी किसानों के पक्ष में बात रखी और सोशल मीडिया के जरिए कहा कि मध्य प्रदेश में भी भाजपा ने मोदी की गारंटी दी थी लेकिन सत्ता मे आने के बाद सब गारंटी गायब हो गई। आगे उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सरकार को आगाह करती है कि किसानों की मांगों को जल्द से जल्द पूरा करें। और सुनवाई नहीं की गई तो गांव गांव आंदोलन के दृश्य देखने को मिलेंगे।

इसे भी पढ़ें – 16 फरवरी को किसान करेंगे “भारत बंद” पूरे देश पर पड़ेगा बुरा असर, ये है किसानों की मुख्य मांगे

Author

Leave a Comment

Your Website