MP News: मध्य प्रदेश सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को दी खुशखबरी, लंबित मानदेय में 207 करोड़ रुपये की मंजूरी

सभी आंगनवाड़ी बहनों के लिए बहुत अच्छी खुशखबरी है क्योंकि सरकार द्वारा अब आप सभी को एक तोहफा दिया जाने वाला है। जिसके अंतर्गत आपका जितना भी बकाया मानदेय होगा जो आपको भुगतान नहीं किया गया है। वे सभी कर्मचारियों को जल्द ही दे दिया जाएगा। सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के बकाया मानदेय का भुगतान करने का निर्णय लिया है। इसके अंतर्गत कुल 207 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है जो आंगनवाड़ी बहनों को प्रदान की जाएगा।

बकाया मानदेय का होगा भुगतान

यह बकाया मानदेय भुगतान किन-किन आंगनबाड़ी सहायिकाओं को दिया जाएगा। और इसके लिए कितना पैसा सरकार द्वारा दिया गया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का सरकार का बड़ा तोहफा। सरकार के द्वारा अब आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए खोली जा रही है तिजोरी, जितने भी लंबवत मानदेय होंगे। जो भी आपका बकाया मानदेय होगा उसके लिए सरकार द्वारा अब सभी बहनों को पैसे दे दिए जाएंगे।

सरकार द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को तोहफा

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का लंबवत मानदेय देने के लिए सरकार ने 207 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया है सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का जो बकाया मानदेय है उसको दिया जाएगा।

MP News: मध्य प्रदेश सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को दी खुशखबरी, लंबित मानदेय में 207 करोड़ रुपये की मंजूरी

इसे भी पढ़ें – Mahtari Vandan Yojana: महतारी वंदन योजना आवेदन फॉर्म डाउनलोड कैसे करें

आंगनवाड़ी केंद्रों के लिए निर्णय

आंगनवाड़ी केंद्रों के लिए भी निर्णय लिया गया है, और इसके तहत कई जिले और राज्यों को शामिल किया गया है। वित्तीय विभाग से इस राशि के उपयोगिता को स्वीकृत कर दी गई है। इसके बाद महिला एवं बाल विकास विभाग से आदेश जारी किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी द्वारा भी स्वीकृति दे दी गई है कि आपका जो बकाया मानदेय है उसको को दे दिया जाएगा।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ सामाजिक न्याय

सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के साथ सामाजिक न्याय स्थापित करने के लिए निर्णय लिया है। और उन्हें उनके बकाया मानदेय प्रदान किया जा रहा है। प्रदेश में सामान्य योजनाओं में कम राशि होने के कारण आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को 3 महीने से मानदेय नहीं मिल पा रहा। यानी मध्य प्रदेश की आंगनवाड़ी बहने हैं इनका जो पैसा है 3 महीने से बाकी है महिला एवं बाल विकास विभाग के अनुसूची जनजाति के लिए वित्तीय विभाग को दिया गया था। विभाग ने मुख्यमंत्री मोहन यादव के निर्देश के बाद 207 करोड़ रुपये सम्मान योजना में देने का स्वीकृति दी।

इसे भी पढ़ें –  लाड़ली बहना योजना की तर्ज पर शुरु हुई महतारी वंदना योजना, 21 से 60 वर्ष की महिलाएं ऐसे करें आवेदन

Author

Leave a Comment

Your Website