Mohan Cabinet Meeting 2024: मोहन कैबिनेट की बैठक में इन योजनाओं और प्रस्तावों को मिली मंजूरी

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने चित्रकूट में श्री रामचंद्र वन गमन पथ न्यास की पहली बैठक बुलाई है। बैठक में चर्चा हुई है कि राम वन गमन पथ भगवान राम के 14 साल के वनवास के दौरान गुजरे स्थानों का कैसे विकास किया जा सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की मोहन सरकार की यह अब तक की चौथी बैठक है और इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं जैसे शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में नै भर्ती को लेकर फैसला लिया गया है की पदोन्नति की वजह से खाली हुए पदों को डायरेक्ट भरा जायगा।

वन गमन पथ के विकास की योजना

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने बैठक बुलाई इस बैठक के दौरान श्री रामचंद्र वन गमन पथ न्यास की चर्चा की गई राम वन गमन पथ के विकास के लिए 300 करोड़ रुपए का बजट रखा है, लेकिन इसका कार्य अब तक शुरू नहीं हुआ है। शिवराज सरकार ने राम वन गमन पथ के लिए 300 करोड़ रुपए का बजट रख दिया। लेकिन काम आगे नहीं शुरू हुआ लेकिन अब मुख्यमंत्री मोहन यादव आज सालों पुरानी इस काम को आगे बढ़ाने जा रहे हैं।

राम वन गमन पथ क्या है

यह राम वन गमन पथ दरअसल वह जगह है जिस स्थान से भगवान श्रीराम, माता सीता और लक्ष्मण जी के साथ 14 सालों के वनवास पर रहे थे। इस वनवास के समय उन्होंने एक लंबा समय मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में गुजारा था।

मध्य प्रदेश में 10 जिले जहा से होकर भगवान राम गुजरे थे

जिन जगहों से भगवान श्रीराम होकर के गुजरे थे उसी जगह को नाम दिया गया है। राम वन गमन पथ इसमें उत्तर प्रदेश के कई जिले शामिल है। चित्रकूट में ही भगवान श्रीराम सबसे लंबे समय तक रहे थे। सतना जिला चित्रकूट जो है व सतना में आता है। लेकिन इसके अलावा भोपाल के पास विदिशा नर्मदापुरम ये दो जिले भी शामिल है। यहां से भी भगवान श्रीराम हो कर के गुजरे थे वही दूसरी तरफ जबलपुर उमरिया, शहडोल, पन्ना, रीवा, अनूपपुर मध्य प्रदेश में वह स्थान हैं। जहा से होकर के भगवान श्रीराम गुजरे थे। और इन्ही जगहो पर राम वन गमन पथ के अंतर्गत करीब 33 ऐसी जगह है जिसे चिन्हित किया गया है।

धार्मिक दृष्टि से सभी जगहों का विकास

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव जी का कहना है कि अब धार्मिक दृष्टि से उन सभी स्थानों का विकास किया जाएगा जिन स्थानों से भगवान श्री राम जी के चरण गुजरे थेधार्मिक दृष्टि से केंद्र सरकार ने समिति बनाई है ताकि जिन स्थानों से भगवान श्री राम गुजरे हैं उन स्थानों का विकास किया जाए। अयोध्या के अलावा भगवान श्री राम अपने 14 साल के वनवास के दौरान जिन स्थानों से गुजरे थे उन स्थानों को पर्यटन का केंद्र बनाकर स्थापित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें – मोहन कैबिनेट की बैठक में इन योजनाओं को मिली मंजूरी, जल्दी देखें

मोहन कैबिनेट की इस बैठक में कई योजनों को भी हरी झंडी दिखाई गई है जैसे पीएम सड़क योजना। पीएम सड़क योजना से छोटे कस्बों की सडकों का निर्माण कार्य होगा। आवश्यकता अनुसार पुलों का भी निर्माण कार्य कराया जायगा। इसके अलावा पक्के माकन बनाने हेतु भी नई योजना बनाई गई है।

Author

Leave a Comment

Your Website