सीखो कमाओ योजना बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरी पाने का सुनहरा मौका जल्दी करें आवेदन

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के लिए अच्छी खबर है कि मध्यप्रदेश के युवा अब इस योजना आवेदन कर सकते हैं। आज से मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के पंजीयन शुरू हो रहे हैं। आपको बता दें कि 7 जून से प्रदेश की अलग अलग कंपनियां जो युवाओं को ट्रैनिंग देने वाली है जिसमें लगभग 1500 से अधिक उद्योग और अन्य कंपनियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। कंपनियों के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जून रखा गया था। 

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना मुख्य रूप से मध्य प्रदेश के युवाओं के लिए राज्य सरकार ने बना कर तैयार की है। सीखो कमाओ योजना युवाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होने वाली है क्योंकि यह योजना बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के साथ साथ उनके रूचि के अंतर्गत भाग लेने वाले युवाओं को कौशल भी सिखाया जाएगा। जिसमें सभी युवा आज से ही आवेदन करना शुरू कर सकते हैं। 

15 जून से आवेदन शुरू 

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना का पोर्टल लॉन्च होते ही 8 जून से ट्रेनिंग देने वाली कंपनियाें का आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गया था। इसके बाद 15 जून यानि आज से युवाओं के लिए रजिस्‍ट्रेशन शुरु कर दिया जायगा। मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के माध्यम से राज्य के युवक और युवतियां दोनों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। अनुमानतः इस योजना से राज्य के लगभग 1 लाख से अधिक युवाओं को लाभ प्रदान किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत  18 से 29 वर्ष के युवा शामिल हो सकते हैं सबसे महत्वपूर्ण राज्य शासन और प्रशिक्षण देने वाली संस्थाओं का अनुबंध 31 जुलाई तक होगा।

आवेदन करने के लिए जरुरी पात्रता 

आवेदन करने वाले युवाओं की आयु 18 से 29 वर्ष तक होना चाहिए, आवेदक मध्यप्रदेश का मूलनिवासी होना चाहिए और आवेदक की शैक्षणिक योग्यता 12वीं/आईटीआई उत्तीर्ण या उससे उच्च होनी चाहिए। इसके साथ योजना के तहत चयनित युवा को ही “छात्र-प्रशिक्षणार्थी” कहा जाएगा।

इसे भी पढ़ें – मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान छात्र-छात्राओं को देंगे ई-स्कूटी, कैबिनेट से मिली मंजूरी

युवाओं को स्टाइपेण्ड

 सीखो कमाओ योजना यह बाकि सब से अलग है क्योंकि योजना में सबसे अच्छी बात यह है कि युवाओं को प्रशिक्षण के साथ साथ भत्ता के रूप हर महीने स्टाइपेण्ड दिया जायगा। युवाओं को स्टाइपेण्ड कुछ इस प्रकार प्राप्त होंगे –

12वीं उत्तीर्ण को 8000/- रूपए

आईटीआई उत्तीर्ण को 8500/- रूपए

डिप्लोमा उत्तीर्ण को 9000/- रूपए

स्नातक उत्तीर्ण या उच्चशैक्षणिक योग्यता को 10000/- रूपए

इस तरह देखा जाय तो स्टाइपेण्ड, न्यूनतम शैक्षणिक अहर्ता के आधार पर निर्धारित किया गया है। परन्तु आपको बता दें कि यह राशि प्रशिक्षण समाप्त होने के 1 महीने बाद दिया जायगा। इसकी पूरी कार्यवाही योजना के पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन किया जाएगा। यह क्रांतिकारी योजना युवाओं को अपने पैरों पर खड़ा होना सिखायागी।

1 अगस्त से होगा प्रशिक्षण प्रारम्भ 

योजना के अंतर्गत युवाओं को प्रशिक्षण देने वाले प्रतिष्ठानों का पंजीयन 07 जून से 15 जून तक पूरा कर लिया गया है अब 15 जून से काम सीखने के इच्छुक युवाओं का पंजीयन शुरू हो गया है जिसे आप ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से स्वयं आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जुलाई तक है।

इसे भी पढ़ें – लाड़ली बहना योजना 95% महिलाओं को हुआ सफल भुगतान, बाकी के बैंक DBT खातों में 25 जून तक आएगी राशि

उसके पश्चात् 31 जुलाई 2023 से युवा, प्रतिष्ठान एवं मध्य प्रदेश के मध्य अनुबंध हस्ताक्षर (ऑनलाइन) की कार्यवाही होगी। 01 अगस्त 2023 से विभिन्न प्रतिष्ठानों में युवाओं का प्रशिक्षण प्रारंभ होगा। 1 माह प्रशिक्षण के उपरांत अर्थात् 1 सितंबर 2023 से युवाओं को राशि (स्टाइपेण्ड) का वितरण राज्य शाशन द्वारा किया जाएगा। 

अधिक पढ़ें 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website