लाडली बहना योजना सर्वर डाउन की समस्या, हो सकता है आपका फॉर्म भी रिजेक्ट

25 मार्च से शुरू हुई लाड़ली बहना योजना पंजीकरण के लिए कई महिला लाभार्थी आंगनवाड़ी केंद्रों, वार्ड कार्यालयों, पंचायत और शिविरों में लाइन लगा रही हैं।

आधार समग्र बैंक और eKYC कराना लाड़ली बहना योजना की सबसे बड़ी समस्या बताई जा रही है। लंबी और समय लेने वाली तीन eKYC अपडेट करने की प्रक्रिया को मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के तहत पंजीकरण की प्रक्रिया के लिए मुख्य गड़बड़ियां बताया गया है।

25 मार्च से शुरू हुए पंजीकरण के लिए कई महिला लाभार्थी आंगनवाड़ी केंद्रों, वार्ड कार्यालयों और शिविरों में लाइन लगा रही हैं। योजना के तहत सभी लाभार्थियों को प्रति माह 1,000 रुपये दिए जाएंगे, लेकिन इसका लाभ लेने के लिए कठिन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। और इसके लाभार्थी इस प्रक्रिया को करने में खर्चा भी करना पड़ रहा है जो की आम आदमी के लिए समस्या का विषय है।

महिला हितग्राही फॉर्म भरने के लिए आंगनबाडी केंद्रों और वार्ड कार्यालयों के चक्कर लगाती नजर आ रही हैं। 3 eKYC जिसमें बैंक eKYC, आधार कार्ड अपडेट और समग्र आईडी, को अपडेट करने में काफी समय लग रहा है। आधार कार्ड अपडेट करने के लिए सौंपे गए कार्यालयों में भीड़ देखी जा रही है।

महिला हितग्राहियों ने कहा कि कई बार सर्वर डाउन होने के कारण उन्हें इंतजार करना पड़ता है।

सिस्टम प्रभारी ने कहा, “मुख्य मुद्दा सर्वर है, कई बार यह डाउन हो जाता है और इस तरह फॉर्म भरने की प्रक्रिया में देरी हो जाती है। इसके अलावा बैंक eKYC, आधार और समग्र आईडी को अपडेट कराना जरूरी है। इन सभी को प्रोसेस करने में समय लगता है। और इस वजह से लाड़ली बहना योजना फॉर्म भरने की प्रक्रिया लंबी और समय लेने वाली होती जा रही है। सभी केवाईसी में एक ही संपर्क नंबर और जानकारी होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें – पीएम आवास योजना 2023 इस साल की लिस्ट हुई जारी

 ‘लाभार्थियों का आधार कार्ड अपडेट नहीं’

 “बैंक eKYCआसानी से अपडेट हो जाता है लेकिन मुख्य समस्या आधार को अपडेट करने की है। आम तौर पर लोग आधार अपडेट कराने को लेकर ज्यादा परेशान होते हैं। आधार कार्ड को अपडेट करने के लिए कार्यालय में भीड़ है। जबकि समग्र आईडी eKYC आसानी से और कुछ ही मिनट में हो जाता है। लेकिन समस्या आधार अपडेट की है, जिसमे अधिक से जायदा समय लग रहा है और प्रक्रिया भी काफी जटिल है। 

लाडली बहना योजना में महिलाएं परिवार के सदस्यों के साथ चक्कर लगाते नजर आ रहीं है। और इस तरह आम आदमी को महज एक हजार रुपए के लिए परेशान होते देखा जा रहा है।

यह भी पढ़ें – जानें क्यों हो रहे है लाडली बहना योजना फॉर्म रिजेक्ट

अपना कल मीडिया प्रभारी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में लोगो ने कहा यह लाडली बहना योजना सिर्फ चुनाव का एक मुद्दा है पिछले 5 साल में ऐसी कोई योजना नहीं आई और अब चुनाव नजदीक आने को है तो सरकार एक हजार रुपए मुफ्त की रेबड़ी बाँट कर चुनाव जीतने में लगी हुई। लेकिन जनता जानती है जनता को बार बार बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता।

इसी तरह एक वीडियो लाडली बहना योजना के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का वायरल होते हुए देखा जा रहा है जिसमे मुख्यमंत्री जी हेलीकॉप्टर से उतारते हुए नजर आ रहे है और उनके कंधे में गड्ढा खोदने वाली कुल्हाड़ी नजर आ रही है जो की मजदूरों और किसानो द्वारा इस्तमाल की जाती है। इस तरह का दिखावा कुछ लोगों से देखा नहीं गया और लोगो ने कमेंट किया।

“ये है मध्यप्रदेश के रहीस किसान” 

तो किसी ने कहा “ऐसा किसान तो में भी बनना चाहूंगा।”

किसी अन्य ने कहा “इतना दिखावा अच्छा नहीं।”

इस तरह लोगों ने कमेंट करके ट्रोल किया। आप कमैंट्स में जरूर बताये लाडली बहना योजना के बारे में आपकी राय क्या है।

यह भी पढ़ें – 

Author

Leave a Comment

Your Website