CM Ladli Bahna Yojna: क्या शिवराज सिंह चौहान के बिना नहीं होगा लाडली बहना योजना का तीसरा चरण?

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा लाडली बहन योजना की शुरुआत की गई थी। जिसकी शुरुआत 15 मार्च से की गई। हालांकि पहले चरण में पर्याप्त आवेदन ना हो पाने की वजह से और अधिकांश महिलाएं वंचित रह गई थी इसी वजह से दूसरे चरण का प्रारंभ भी जुलाई 2023 से किया गया। हालांकि तीसरे चरण में भी कठोर नियम की वजह से लाखों महिलाएं अभी भी वंचित है लेकिन शिवराज सिंह चौहान जी फिलहाल राज्य के मुख्यमंत्री नहीं है और इस वजह से ही सवाल पैदा होता है कि उनके बिना लाडली बहन योजना का तीसरा चरण शुरू होगा या नहीं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने अपने कार्यकाल में लाडली लक्ष्मी योजना, लाडली बहन योजना शुरू की और लाडली बहन योजना के दो चरणों को भी सफलता पूर्वक किया। लेकिन विधानसभा चुनाव की वजह से तीसरे चरण के आवेदन नहीं हो पाए थे। और शिवराज सिंह चौहान जी ने यह वादा भी किया था कि वह तीसरा चरण जल्द से जल्द शुरू करेंगे। लेकिन आचार संहिता फिर विधानसभा चुनाव और फिर उसके बाद राज्य में नए मुख्यमंत्री मोहन यादव जी को चुना गया। जिससे शिवराज सिंह जी को इस्तीफा देना पड़ा।

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी ने तीसरे चरण का किया था वादा

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने लाडली बहना योजना की शुरुआत की थी। जिससे लाखों महिलाओं का जीवन यापन बहुत अच्छे से चल रहा है। महिलाओं के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन भी हो रहे हैं। और इसी सफलता को देखते हुए मुख्यमंत्री जी ने दूसरे चरण की शुरुआत की थी। लेकिन कठोर नियम की वजह से दूसरे चरण में अधिकांश महिलाओं ने आवेदन नहीं कर पाया था और यही एक कारण था कि शिवराज सिंह चौहान जी ने तीसरे चरण की भी घोषणा की थी ताकि वंचित महिलाएं भी आवेदन कर सके और योजना का लाभ उठा पाए।

तीसरे चरण में उम्र सीमा और पात्रता संबंधी दी गई ढील

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने लाडली बहना योजना के तीसरे चरण के लिए आधिकारिक घोषणा कर दी थी। और जबलपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने इसकी उम्र सीमा में भी बदलाव किया ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं भी योजना से जुड़ सके और लाभ प्राप्त कर पाए। लाडली बहना योजना की शुरुआत में उम्र सीमा 23 वर्ष से 60 वर्ष तक रखी गई थी जिसे बाद में शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा संशोधित कर 21 वर्ष से 60 वर्ष कर दिया गया।

लाडली बहना योजना की पात्रता में भी संशोधन किया गया जैसे अविवाहित बहनों को भी योजना में जोड़ा जाता है। पहले केवल विवाहित महिलाएं, विधवा व तलाकशुदा महिला को ही आवेदन करने का मौका दिया जाता था। लेकिन अब 21 वर्ष से अधिक आविवाहित बहनें भी योजना में आवेदन कर सकती हैं। इसके साथ ही बिना ट्रैक्टर वाली महिलाएं / परिवार में ट्रैक्टर नहीं है वे सभी आवेदन कर प्रतिमाह लाभ प्राप्त कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें – पूर्व CM शिवराज सिंह चौहान ने रखा अपने नए ठिकाने का नाम “मामा का घर”

क्या शिवराज सिंह जी के बिना हो पाएगा तीसरा चरण

शिवराज सिंह चौहान पिछले 15 वर्षों से अधिक समय से राज्य के मुख्यमंत्री हैं। और राज्य की जनता खास तौर पर महिलाएं और बेटियां उन्हें बहुत प्यार करती हैं उन्हें अपना मामा और भैया मानती हैं। और 15 वर्ष से अधिक समय राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर सेवा करने के कारण उन्हें बहुत अच्छा अनुभव है। ऑन द स्पॉट नियमों में संशोधन और ज्यादा से ज्यादा लोगों को राज्य व केंद्र सरकार की योजनाओं से जोड़ना और लाभ देना उनके लिए सहज था।

लेकिन शिवराज सिंह चौहान जी अब राज्य के मुख्यमंत्री नहीं है और बहनों को अब ये डर सता रहा है कि लाडली बहना योजना का तीसरा चरण शुरू भी होगा या नहीं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोहन यादव जी अभी नए हैं और मंत्रिमंडल पूरी तरह से बदला गया है। जिसकी वजह से सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु अधिक से ज्यादा समय लग रहा है। लेकिन लाडली बहनों को घबराने की जरूरत नहीं है जनवरी माह के अंत तक तीसरे चरण की शुरुआत हो जाएगी।

यह भी पढ़ें – खुशखबरी CM मोहन यादव ने विधवा पेंशन 600 रुपये से बढ़ाकर किया 1500 रुपये, इनका नाम किया गया है शामिल

Author

Leave a Comment

Your Website