6 दिन शेष जल्दी करें – कृषि ड्रोन पायलट प्रशिक्षण की अंतिम तिथि नजदीक, अभी करें ऑनलाइन आवेदन

सभी किसानों को अब कृषि ड्रोन प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। जितने भी किसान 18 से लेकर 45 वर्ष की आयु के हैं। वे सभी किसान कृषि ड्रोन के प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। यह किसानों के लिए सुनहरा अवसर है। जितने भी इच्छुक किसान कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण के लिए आवेदन करना चाहते हैं। उन सभी को जानकारी के लिए बता दे कि आवेदन करने की आखिरी तारीख 19 फरवरी 2024 है।

कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण 2024

कृषि विभाग के द्वारा 18 से 45 वर्ष के किसानों और बेरोजगार युवाओं को कृषि ड्रोन पायलट बनाने के लिए ऑनलाइन आवेदन के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। जो कोई भी इच्छुक व्यक्ति इसके लिए आवेदन करना चाहते हैं। इसके लिए अंतिम तारीख 19 फरवरी रखी गई है। इसलिए सभी को सूचित किया जाता है कि जल्द से जल्द कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण के लिए ऑनलाइन आवेदन करें। ताकि आपको जल्द से जल्द प्रशिक्षण दिया जा सके। किसानों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है इस अवसर के माध्यम से किसान कम आमदनी में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण 2024 के लिए आयु सीमा

कृषि ड्रोन पायलट प्रशिक्षण 2024 हेतु किसानों और बेरोजगार युवाओं की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 45 वर्ष रखी गई है। जो कोई भी व्यक्ति इसके लिए आवेदन करना चाहते हैं। उनकी आयु 18 से लेकर 45 वर्ष के बीच होनी अति आवश्यक है।

कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण 2024 के लिए शैक्षिक योग्यता

जो कोई भी किसान दसवीं पास है वह सभी कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण हेतु ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा बेरोजगार युवा जो 12वीं पास या किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक डिग्री है कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण 2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – MP News: मध्य प्रदेश अतिथि शिक्षकों की उपस्थिति होगी ऑनलाइन, आदेश जारी, देखें पूरी प्रक्रिया

कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण 2024 के फायदे

कृषि ड्रोन पायलट के प्रशिक्षण में युवाओं को ड्रोन का उपयोग कैसे करना है। उसके बारे में कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा। जब युवाओं को इसका अनुभव हो जाएगा तो युवा इस ड्रोन का उपयोग करके अपने खेतों की देखभाल अच्छे से कर सकेंगे। इसके अलावा ड्रोन के माध्यम से उर्वरक खाद और कीटनाशक का छिड़काव फसलों की देखरेख फसलों की गुणवत्ता जैसे कार्यों को करना किसानों के लिए आसान हो जाएगा। इसके माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी और फसलों के उत्पादन में भी वृद्धि होगी। युवाओं को पायलट के प्रशिक्षण के बाद रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

इसे भी पढ़ें – MP News – हजारों जनसेवा मित्र की नौकरी खतरे में, मोहन सरकार का हम पर ध्यान नहीं 

Author

Leave a Comment

Your Website