किसान कल्याण महाकुंभ: मध्यप्रदेश के किसानों को दिए जाएंगे डीबीटी से 2933 करोड़ रुपए

मधयप्रदेश विधानसभा चुनाव से से पहले अब राज्य के किसानों के लिए अच्छी खबर सामने आई है। राजगढ़ में जिले में किसान कल्याण महाकुंभ का आयोजन आज 13 जून को किया जा रहा है और इस आयोजन के दौरान फसल बीमा के 2933 करोड़ रुपए की राशि सभी किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

मधयप्रदेश के किसानों को आर्थिक सहायता

मध्यप्रदेश के किसानों को विधानसभा चुनाव से पहले सभी योजनाओं का लाभ बीजेपी सरकार देगी। हालाकि ये सभी आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुऐ किया जा रहा है। वर्ष 2021 के फसल बीमा की राशि और 2022 के फसल बीमा की राशि अब तक किसानों को प्राप्त नही हुई है। लेकिन 2023 विधान सभा चुनाव में मुद्दा बनाने के लिए शिवराज सरकार द्वारा किसानों को साधने का प्रयास किया जा रहा है और 2021-22 दोनों ही वर्ष के फसल बीमा की राशि किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी।

किसानों को फसल बीमा की राशि दी जाएगी और इसके अलावा डिफाल्टर किसानों का ब्याज भी भरा जाएगा। प्रतिवर्ष पीएम किसान सम्मान निधी योजाना के 6 हजार रूपए किसानों को दिए जाते है और इस वर्ष से किसान कल्याण योजना के 4 हजार रुपए अलग से किसनों के खाते में दिए जाएंगे।

फसल बीमा के 2933 करोड़ रुपए किसानों के खाते में

आज 13 जून मंगलवार राजगढ़ जिले में किसान कल्याण महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है इस कार्यकृम में सीएम शिवराज सिंह चौहान और देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शमिल होंगे।

इस कार्यक्रम में 2021 प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हुई खरीफ और रबी की फसलों का बीमा एक साथ 44 लाख 49 हजार 649 किसानों के खाते में फसल बीमा की राशि 2933 करोड़ रुपए ट्रांसफर की जाएगी।

यह भी देखें – MP Election 2023: कमलनाथ के साथ, पांच बड़ी सौगात, अब बीजेपी की बढ़ी चुनौती

11 लाख किसानों को करेगें ब्याज मुक्त

किसान कल्याण महाकुंभ में किसानों के कर्ज की ब्याज राशि की भरपाई सीएम शिवराज सिंह द्वारा की जाएगी। राज्य के 11 लाख से ज़्यादा डिफॉल्टर किसानों को ब्याज मुक्त किया जाएगा। किसानों के कर्ज माफी में कुल 2 हजार 123 करोड़ रुपए की राशि जमा की जाएगी।

राजगढ़ के अलावा अन्य जिलों में भी होगा आयोजन

किसान कल्याण महाकुंभ आयोजन राजगढ़ जिले के अलावा राज्य के अन्य 9 जिलों में भी होगा। और इन जिलों में प्रभारी मंत्री किसानों को संबोधित करेंगे। राजगढ़ सहित अन्य सभी जिलों में 1 लाख से ज्यादा किसानों के शमिल होने के संभावनाएं है।

यह भी देखें – लाड़ली बहना योजना जिन महिलाओं का 1000 रुपये नहीं आया तो DBT करें तुरंत आएगा पैसा

Author

Leave a Comment

Your Website