MP News: पहले में होटलों में काम किया करता था, अब प्रदेश का मुख्यमंत्री हूँ – CM डॉ मोहन यादव

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव गुरुवार 25 जनवरी को MPPSC (मध्य प्रदेश सिविल सेवा) के वर्ष 2019-2020 के चयनित अफसरों को नियुक्ति पत्र प्रदान करने के लिए भोपाल के रविंद्र भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति देने पहुंचे। इस मौके पर CM डॉ मोहन यादव ने MPPSC चयनित अफसरों से सीधा संवाद किया और उन्हें मध्य प्रदेश सरकार के विज़न से भी परिचित कराया। 

रविंद्र भवन में आयोजित कार्यक्रम में MPPSC अफसरों को नियुक्ति पत्र प्रदान करने की प्रक्रिया के दौरान कई अभ्यर्थियों ने CM डॉ मोहन यादव से विभिन्न प्रकार के सवाल पूछे और सलाह मांगी। एक अफसर द्वारा किए गए सवाल का जवाब देते हुए CM मोहन यादव ने कहा “युवा अफसर को शासन से किसी की मंजूरी की जरूरत होगी तो मैं उसे मंजूर करूंगा, आपको चुनौती से आगे बढ़ना है उसके आगे सर नहीं झुकना है। इसके साथ ही उन्होंने तकनीकी विकास को सराहते हुए कहा कि यह युग नई टेक्नोलॉजी का है हमें इसके साथ ही आगे बढ़ना है। 

युवाओं ने किये लोक सेवा के संदर्भ में सवाल 

MPPSC अभ्यर्थी आयुषी साहू ने लोक सेवा के संदर्भ में CM डॉ मोहन यादव से सवाल किया कि ‘लोक सेवा के क्षेत्र में तीन अनुभव बताएं जिन्हें ध्यान रखना जरूरी है’? इस सवाल का जवाब देते हुए CM डॉ मोहन यादव ने कहा कि “मनुष्य को हमेशा अपने काम की गंभीरता का एहसास होना चाहिए और आप चाहे कोई भी विभाग में हो उसके दायरे से भी बाहर निकल कर देखें, साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे अंदर काम को टालने की प्रवृत्ति नहीं होनी चाहिए। 

युवाओं का सवाल अपनी व्यस्त दिनचर्या को कैसे मेंटेन करते हैं’? 

युवा MPPSC अभ्यार्थियों द्वारा CM डॉ मोहन यादव से यह सवाल किया गया कि वह आखिर कैसे अपनी व्यस्त दिनचर्या को मेंटेन करते हैं?  जिसके जवाब में CM डॉ मोहन यादव ने बताया कि “मैं डायरी मेंटेन करता हूं, उसमें लिखता हूं कि मुझे क्या करना है किससे मिलना है आदि” इसके साथ ही उन्होंने बताया कि वह नवाचार भी करते हैं और आगे क्या करना है उसका भी खास ध्यान रखते हैं। 

एक बार दोस्त बना लो तो उन्हें मत छोड़ो 

जीवन में सफलता प्राप्त करने के सफर में दोस्तों की क्या महत्व है इस सवाल का जवाब देते हुए CM डॉ मोहन यादव ने अपनी व्यक्तिगत जानकारी देते हुए कहा कि “कॉलेज लाइफ में मैंने अपने काम की शुरुआत होटल में काम करने से की थी, काम के साथ-साथ में राजनीति भी करने लगा। इस दौरान मेरे कार्य को सफल बनाने के सफर में मैंने जिससे दोस्ती की थी वह आज भी मेरे साथ है”। 

इसे भी पढ़ें –  लाडली बहना आवास योजना की पहली लाभार्थी सूची जारी, ऐसे देखें लिस्ट में अपना नाम

CM डॉ मोहन यादव ने मित्रों की भूमिका बताते हुए कहा कि “यह बहुत जरूरी है कि आप अपने से जुड़े सभी लोगों की अच्छाई और बुराई के बारे में जानो, एक बार जब उनसे दोस्ती कर लो तो उन्हें फिर कभी छोड़ो मत, यदि उनमें कोई बुराई भी है तो उन्हें समझा कर उसको उनके अंदर से दूर करो यही मित्रता का महत्व है। 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website