दिसंबर महीने में शुरू होने वाली है हॉटकुक्ड योजना, सभी बच्चों को मिलेगा लाभ

हॉटकुक्ड योजना को बाल विकास विभाग द्वारा शुरू किया गया है। यह आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के लिए शुरू की गई एक योजना है। जिसके तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को गर्म भोजन दिया जाएगा। इसके लिए 1500 आंगनबाड़ी केंद्रों को जोड़ा गया है बता दे की दिसंबर महीने के पहले सप्ताह से इन केंद्रों पर हॉटकुक्ड योजना की शुरुआत की जाएगी। अब बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्रों पर भी खाना पकाकर खिलाया जाएगा। और यह खाना बहुत स्वादिष्ट और अच्छा होगा। बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा भोजन होगा। जिसे खाकर बच्चे बीमारी मुक्त होंगे।

हॉटकुक्ड योजना 2023

हॉटकुक्ड योजना के द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों में पढ़ने वाले बच्चों को गर्म भोजन देकर उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा की जाएगी। ताकि बच्चों को अच्छा भोजन प्राप्त हो सके और उनके स्वास्थ्य में कोई प्रभाव न पड़े। क्योंकि आंगनबाड़ी केंद्रों में बहुत छोटे बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं। और यह बच्चे बड़े होकर भविष्य के नागरिक हैं इसलिए यदि बच्चों को बचपन में ही स्वस्थ बनाया जाए तो आगे चलकर उनको बीमारियों से बचाए जा सकता है। इस प्रकार बच्चों को अच्छा भोजन दिया जाएगा तो बच्चे स्वस्थ रहेंगे और उनका विकास भी अच्छे से होगा।

हॉटकुक्ड योजना से बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार

बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए हॉटकुक्ड योजना की शुरुआत की गई है। आंगनवाड़ी में बहुत छोटे बच्चे गरीब परिवारों से होते हैं। ऐसे में सरकार ने बच्चों को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए इस योजना के तहत अच्छा भोजन देकर बच्चों को स्वस्थ बनाने के लिए हॉटकुक्ड योजना को हरी झंडी दे दी है।

इस योजना के माध्यम से बच्चों को स्वस्थ बनाने का प्रयास किया जा रहा है। बच्चे शारीरिक रूप से तो स्वस्थ रहेंगे ही लेकिन बच्चों का मानसिक रूप से स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। यदि बचपन में बच्चों में कोई कमी आ जाती है तो उसके कारण बच्चों को लंबे समय तक बीमारी से झेलना पड़ता है। इसलिए बच्चों को सुरक्षित रखना चाहिए ताकि बच्चे स्वस्थ रहें और मस्त रहें।

यह भी पढ़ें – 3 दिसंबर को आएगा रिजल्ट लाड़ली बहना या नारी सम्मान योजना, देखें दोनों ही योजनाओं के फायदे

हॉटकुक्ड योजना के माध्यम से दिया जा रहा बच्चों को राशन

यदि बच्चे अच्छा भोजन प्राप्त करेंगे तो उनका दिमाग का भी विकास अच्छे से होगा जो बच्चे गरीब परिवार के हैं उन बच्चों को योजना के माध्यम से लाभ मिलेगा। और बच्चों के विकास में भोजन की अहम भूमिका रहती है। यदि भोजन ही स्वस्थ नहीं होगा तो बच्चों का स्वास्थ्य कैसे अच्छा हो सकता है। इसके लिए सरकार ने प्रयास किया है कि यदि बच्चों को बचपन में ही अच्छा भोजन दिया जाएगा। तो उनका स्वास्थ्य सही रहेगा और बच्चों कुपोषण मुक्त रहेंगे।

यह भी पढ़ें – लाड़ली बहना योजना के भरोसे हैं शिवराज सरकार, क्या बहनों का समर्थन जिता पायेगा भाजपा को

Author

Leave a Comment

Your Website