MP News: मध्य प्रदेश के इंदौर में बनेगा ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर, 2000 से अधिक युवाओं को मिलेगा रोजगार

मध्य प्रदेश में अब बनने जा रहा है। ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर यह मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में बनेगा इंदौर में बनने वाला पहला डाटा सेंटर के माध्यम से हजारों लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। और इसे इंदौर में आईटी सेक्टर को बढ़ावा दिया जाएगा। ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर से विभिन्न कंपनियों को लाभ होंगे और राज्य के युवाओं  रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे। 

ग्रीन फील्ड डेटा सेंटर

मध्य प्रदेश को जल्द ही पहला ग्रीन फील्ड डेटा सेंटर मिल सकता है। इसके साथ ही एशिया की रेटेड-4 कंपनी भी डेटा प्रोवाइडिंग सेक्टर में शुरू कर सकती है। कंपनी आईआईएम के पास अपना प्रोजेक्ट लाने का सोच रही है। और लगभग 300 करोड़ का निवेश कर सकती है। इससे प्रदेश में 2 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। ग्रीन फील्ड डेटा सेंटर के लिए कंपनी को मार्च में इंदौर में जमीन आवंटित की जा सकती है।

मध्य प्रदेश के इंदौर में बनने वाले पहले डाटा सेंटर का उद्देश्य

कंपनी ने इस उद्देश्य के लिए आईआईएम के पास की जमीन का उपयोग किया। इसका मुख्य कारण यह है कि टीसीएस का दूसरा पार्क इस साइट से लगभग 23.7 किमी दूर स्थित है, जबकि क्रिस्टल आईटी पार्क 13.3 किमी दूर है। चयनित संपत्ति से हवाई अड्डे की दूरी 16 किमी है। कंपनी को इंदौर से करीब 25 किमी दूर शिप्रा के पास जमीन का एक और टुकड़ा दिखाया गया।

इंदौर में बनने वाला डाटा सेंटर चार रैंक में स्थापित किया जाएगा। इस कंपनी का उद्देश्य है कि अपने प्रोजेक्ट को आईआईएम तक पहचाने और उसका विस्तार करने लिए इस कंपनी ने लगभग 30 करोड रुपए का निवेश करने का प्रावधान रखा है। जिसके कारण इंदौर और उसके आस-पास के लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा। लगभग 2000 लोगो को रोजगार दिया जायगा जिससे बेरोजगारी भी काम होगी। और मध्य प्रदेश विकसित होगा।

मध्य प्रदेश औद्योगिक विकास निगम

जानकारी के लिए बता दें कि पहला देश आईआईएम मध्य प्रदेश औद्योगिक विकास निगम को कंपनी के प्रस्ताव में कहा गया है कि कंपनी इंदौर में मध्य प्रदेश का पहला ग्रीनफील्ड डेटा सेंटर स्थापित करना चाहती है। मध्य प्रदेश में बनने वाला पहला देश आईआईएम को बनाने के लिए 1.7 हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी। इस कंपनी के निर्माण में लगभग 60,000 वर्ग मीटर के कुल क्षेत्रफल की भूमि के लिए आवेदन किया गया है।

यह भी पढ़ें – मध्य प्रदेश की मोहन सरकार ने खोले तरक्की के दरवाजे, अब एयर एंबुलेंस सेवा से होंगे अनगिनत फायदे

परियोजना में लगभग 300 करोड़ रुपये का निवेश

मध्य प्रदेश का पहला ग्रीन फील्ड डेटा सेंटर अब डेटा प्रोवाइडिंग सेक्टर में एशिया की रेटेड-4 कंपनी कंट्रोल-S ने इंदौर में खोलने में अपना इंटरेस्ट दिखाया है। इस परियोजना में लगभग 300 करोड़ रुपये का निवेश होने की संभावना है। जिससे जानकारी के अनुसार, सरकार मार्च में इस परियोजना के लिए कंपनी को ज़मीन प्रदान कर सकती है। मध्य प्रदेश इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के मुताबिक, वर्तमान में कंपनी ने दो अलग-अलग स्थानों पर ज़मीन की खोज की है।

इसके अतिरिक्त, भारत के बाहर, 350 से अधिक संस्थानों को यह कंपनी अपनी सेवाएं प्रदान कर रही है। कंपनी के हैदराबाद, बेंगलुरु, मुंबई, नोएडा, चेन्नई और कोलकाता में केंद्र स्थापित हैं। जिनमें हैदराबाद में तीन, बेंगलुरु में एक, मुंबई में पांच, नोएडा में एक और चेन्नई और कोलकाता में दो-दो केंद्र हैं।

ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर क्या है एवं इसके लाभ

ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर एक ऐसी जगह है। जहां विभिन्न आईटी कंपनियों को गतिविधियों और उपकरणों की कई तरह की सुविधाएं दी जाती हैं। जैसे डाटा स्टोरेज, कंपनियों की एप्लीकेशन और वेबसाइट से जुडे काम, सर्वर को ऑनलाइन रखना, सूचनाओं को आदान प्रदान करने जैसी विभिन्न सुविधाएं शामिल हैं। ग्रीन फील्ड डाटा सेंटर से कंपनियों को बेहद लाभ मिलने वाला है। और यह मध्य प्रदेश के इंदौर में पहला ग्रीन फोल्ड डेटा सेंटर बनेगा और इस तरह मध्य प्रदेश के युवाओं के लिए भी नए रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

यह भी पढ़ें – मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मध्य प्रदेश को दी एक और सौगात, अडानी ग्रुप करेगा 75000 करोड़ रुपये का निवेश

Author

Leave a Comment

Your Website