आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों के लिए बुरी खबर, अब प्राइवेट अस्पतालों में नहीं होगा ईलाज

आयुष्मान भारत योजना का लाभ ले रहे लाभार्थियों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है हालांकि यह अपडेट भारत सरकार द्वारा ही जारी किए की गई है जिसमें 196 ऐसी बीमारियों के बारे में बताया गया है जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत नहीं आती है। सरकार द्वारा यह सूची इसलिए जारी की गई है ताकि आम जनता को सही जानकारी मिल पाए और किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई थी ताकि हेल्थ के क्षेत्र में ध्यान दिया सके और सुधार लाया जा सके। आयुष्मान भारत योजना में कई तरह की बीमारियों का फ्री इलाज होता है लेकिन हाल ही में सरकार ने एक सूची जारी की है और बताया है ककि इस सूची में आने वाली बीमारियों का इलाज आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल नहीं है। वह कौन-कौन सी 196 बीमारियां है आज के इस आर्टिकल पर हम जानने वाले हैं।

आयुष्मान भारत से 1760 बीमारियों का होता है इलाज

भारत सरकार द्वारा आयुष्मान योजना की शुरुआत की गई है और इस योजना के अंतर्गत 1760 बीमारियों का इलाज किया जाता है। इस योजना में गरीब एवं असहाय परिवारों को बीमारियों पर होने वाले खर्चों का आर्थिक बोझ नहीं उठाना पड़ता है और इस योजना से हितग्राही परिवारों को ₹500000 तक का सालाना इलाज फ्री मिलता है।

भारत सरकार ने इन 196 बीमारियों को हटाया

आयुष्मान भारत योजना से सरकार ने 196 बीमारियों को हटा दिया है जिसमें शामिल है मलेरिया, मोतियाबिंद, सर्जिकल डिलीवरी, गैंग्रीन, नसबंदी आदि। इन सभी 196 बीमारियों का इलाज प्राइवेट अस्पताल में होता था और इसी वजह से सरकार द्वारा इन 196 बीमारियों को हटा दिया गया है।

यह भी पढ़ें – MP News: मध्य प्रदेश में संविदा कर्मचारियों को परमानेंट करने के लिए आया नियम, देखिए क्या हैं शर्तें

भारत सरकार द्वारा इन 196 बीमारियों को हटाए जाने के बाद आम जनता सरकार के फैसले से नाराज है। क्योंकि प्राइवेट अस्पताल में सरकारी अस्पताल की तुलना में अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मिलती हैं। और सरकार किसी फैसले की बात से आम जनता बेहद दुखी है क्योंकि अब उन्हें प्राइवेट अस्पतालों में इन बीमारियों का इलाज मुफ्त नहीं मिलेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की सरकार द्वारा हटाई गई इन 196 बीमारियां का इलाज आप सरकारी अस्पताल में अभी भी फ्री करा सकते हैं केवल प्राइवेट अस्पताल के लिए इन 196 बीमारियों को हटाया गया है। अगर आप आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्र है या नहीं चेक करना चाहते तो आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं और भविष्य में इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना में शामिल बीमारियों का इलाज अब आप प्राइवेट अस्पताल में नहीं करा सकते हैं। आधिकारिक तौर पर 196 बीमारियों के लिस्ट भी जारी कर दी गई है। हालांकि आम जनता इस फैसले से नाराज है लेकिन आपकी इस पर क्या राय है हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं और इस तरह की खबरों के लिए हमारे साथ बने रहें।

यह भी पढ़ें – भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर लाड़ली बहनों को मिलेगी आवास योजना की किस्त 25000 रुपये

Author

Leave a Comment

Your Website