मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना में 2200 बहनों के साथ हुआ फ्रॉड, गुरुग्राम के अज्ञात खातों में पहुंची राशि

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य की बहनों के लिए जबसे लाडली बहना योजना की शुरूआत की है तब से लाडली बहना योजना से संबंधित खबरें चर्चा का विषय बनी हुई है। फिलहाल सतना जिले से एक खबर निकल कर आई है जिसमें सतना जिले की करीब 2200 लाडली बहनों के साथ फर्जीवाड़ा हो गया।

सतना जिले में 2200 बहनों के साथ फर्जीवाड़ा

सतना जिले में रहने वाली 2200 लाडली बहनों के साथ फर्जीवाड़ा का मामला समाने आया है दरअसल लाडली बहना योजना के तहत 10 जून को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा भेजी गई राशि इन बहनों के खाते में प्राप्त नहीं हुई और जांच पड़ताल करने पर पता चला कि गुरुग्राम के सेंट्रल बैंक में अज्ञात खातों में यह राशि जमा हो गई है। हालाकि यह खाते कब और किसने खोले है इस बात की जानकारी महिलाओं को पता नही है।

जनसुनवाई में पहुंची लाडली बहनें

सतना जिले की इन महिलाओं के खाते में राशि प्राप्त न होने की वजह से निराश महिलाएं जनसुनवाई में पहुंची। जिसमें हानुमान नगर नई बस्ती निवासी राजकुमार विश्वकर्मा पति राम कुमार विश्वकर्मा मंगलवार को जनसुनवाई में बताया कि उनका खाता यूनियन बैंक जयस्तंभ चौक की शाखा में खुला हुआ है और लाडली बहना योजना का पंजीयन कराने के साथ ही इस खाते में डीबीटी सक्रिय भी कराया लेकिन उनके खाते में योजना की राशि प्राप्त नहीं हुई।

यह भी पढ़ें – नाराज बहनों के लिए सरकार ने निकाली एक नई योजना जल्दी करें आवेदन

आगे महिला ने बताया कि इनके मोबाइल में एक SMS प्राप्त हुआ है जिसमें लाडली बहना योजना की राशि किसी सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के खाता क्रमांक 39616****8 में भेज दी गई है। और जब महिलाओं द्वारा नजदीकी सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शाखा में जाकर पता किया गया तो बैंक मैनेजर ने उन्हें बताया कि यह खाता गुरुग्राम की बैंक शाखा का है।

महिलाओं ने बताया की कैसे उनके साथ धोखाधड़ी हुई

अपना कल की टीम से बात करते हुऐ राजकुमारी विश्वकर्मा और दीपमाला ने बताया कि ऐसी 2200 महिलाएं हैं जिनके साथ लाडली बहना योजना की राशि में फर्जीवाड़ा किया गया है। महिलाओं ने आगे बात करते हुऐ बताया कि 7 से 8 साल पहले दिल्ली गुरुग्राम वाले जो प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र सतना में संचालित कर रहे थे उन्होनें इन सभी महिलाओं से आधार कार्ड, पैन कार्ड सहित अन्य दस्तावेज लिए थे और इन्हीं लोगों ने बिना किसी जानकारी के खाता खुलवाया है।

यह भी पढ़ें – नारी सम्मान योजना डीबीटी की पहली किस्त 1500 रुपए इस दिन आएगी, जल्दी से करें आवेदन

लाडली बहनों के हस्ताक्षर भी निकले फर्जी

सतना जिले में राजकुमारी विश्वकर्मा, दीपमाला के साथ दर्जनों महिलाएं जनसेवासुनवाई में पहुंची जिसके बाद उन्हें खाता ट्रान्सफर करने के लिए सेंट्रल बैंक पहुंचाया गया लेकिन बैंक में फोटो तो उनकी थी लेकिन बैंक में हस्ताक्षर उनके नहीं थे। और महिलाओं के हस्ताक्षर से बिलकुल भी मैच नहीं कर रहे थे। हालाकि बैंक मैनेजर महिलाओं को ऐसे हस्ताक्षरों की प्रैक्टिस करके आने को कहा।

महिलाओं के साथ की गई इस धोखाधड़ी से महिलाएं बेहद नाराज हैं और महिलाओं को चिंता है कि आने वाले लाडली बहना योजना की राशि उसी खाते में जाएगी जिनका इन महिलाओं के पास निकालने और ट्रांसफर करने की कोई सुविधा ही नही है।

सतना जिले के कलेक्टर अनुराग वर्मा जी ने मामले की जांच करने के लिए कहा है। इस इस घटना की पूरी जानकारी सेंट्रल बैंक के लीड बैंक मैनेजर एपी सिंह, एलडीएम को मामले की जांच करने के निर्देश दिए कि लाडली बहनों के खाते गुरुग्राम से सतना जिले में ट्रान्सफर कराएं जाएं और राशि दिलवाई जाएं।

यह भी पढ़ें – मुख्य्मंत्री सीखो कमाओ योजना पोर्टल बंद, अब 25 जून से होंगे युवाओं के आवेदन

Author

Leave a Comment

Your Website