बिजली बिल उपभोक्ताओं के लिए बढ़ी टेंशन, अब मोबाइल की तरह रिचार्ज करना होगा बिजली बिल

बिजली के बिल भरने को लेकर अक्सर कई लोग बहुत आलसी होते हैं और महीनों तक बिजली के बिल बकाया करते रहते हैं ऐसे लोगों के लिए बिजली के बिल को लेकर मुसीबतें और बढ़ाने वाली है क्योंकि सरकार ने राज्य में स्मार्ट मीटर लगाने के निर्देश विद्युत कंपनियों को दे दिए हैं बता दें कि प्रदेश में यह स्मार्ट मीटर लगने के बाद से बिजली उपभोक्ता अपने बिजली के बिलों को बकाया नहीं रख पाएंगे अब तुरंत ही बिजली के बिल का भुगतान उन्हें करना होगा। 

राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी घरों में स्मार्ट मीटर लगाने की मंजूरी विद्युत कंपनियों को दे दी है। राज्य में स्मार्ट मीटर लगने से मीटर रीडिंग और बिलिंग का झंझट खत्म हो जाएगा। बता दें कि अब स्मार्ट मीटर लगने के बाद आपको अपने मोबाइल रिचार्ज की तरह ही बिजली कनेक्शन का भी रिचार्ज करना होगा, जिसको यदि आप नहीं करवाते हैं तो आपके घर में अंधेरा छाया रहेगा। हालांकि राज्य में स्मार्ट मीटर के लगने से बिजली उपभोक्ताओं को कुछ नुकसान होंगे तो कुछ फायदे भी होंगे, जिनके बारे में हम आगे इस आर्टिकल में बताने वाले हैं। 

60 लाख से अधिक घरों में स्मार्ट मीटर 

राज्य सरकार द्वारा मंजूरी मिलने के बाद विद्युत कंपनियों ने प्रदेश के 60 लाख से भी अधिक घरों में स्मार्ट मीटर लगाने की परियोजना तैयार की है, जिस पर इसी माह फरवरी से कार्य किया जाएगा। बता दें की शुरुआत में विद्युत कंपनियों द्वारा सरकारी दफ़्तरों और ट्रांसफार्मरों में स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे और फिर बाद में आम नागरिकों के घरों में इन्हें लगाने का कार्य किया जाएगा। 

पांच संभागों को मिली स्मार्ट मीटर लगाने की जिम्मेदारी  

राज्य में स्मार्ट मीटर लगाने की बिजली विभाग ने एक अनोखी पहल शुरू की है राज्य में स्मार्ट मीटर लगाने और उसकी देखरेख करने का संपूर्ण जमा राज्य के पास संभागों को सौंपा गया है। 

  • रायपुर राजस्व संभाग में टाटा पावर  
  • बिलासपुर राजस्व संभाग में हाई प्रिंट सॉल्यूशन 
  • सरगुजा राजस्व संभाग में हाई प्रिंट सॉल्यूशन  
  • दुर्ग राजस्व संभाग में मेसर्स जीनस पावर सॉल्यूशन 
  • बस्तर राजस्व संभाग में मेसर्स जीनस पावर सॉल्यूशन 

इसे भी पढ़ें –  लाड़ली बहना योजना: आखिर कब तक मिलेगा 3000 रुपये महीना और कब शुरू होगा तीसरा चरण

स्मार्ट मीटर लगने से होंगे कई फायदे और नुकसान 

राज्य में स्मार्ट मीटर लगने से बिजली उपभोक्ताओं को कई तरह के फायदे और नुकसान होने वाले हैं। बता दे की स्मार्ट मीटर लगने से मीटर रीडिंग और बिलिंग का झंझट खत्म हो जाएगा। बिजली बिल बकाया रखने वालों को समस्या हो सकती है क्योंकि अब स्मार्ट मीटर लगने से घर बैठे ही मोबाइल रिचार्ज की तरह बिजली का रिचार्ज करना होगा जिसको यदि उपभोक्ता रिचार्ज नहीं करते हैं तो उनके घरों में अंधेरा फैला रहेगा साथ ही मीटर रीडिंग के दौरान बिजली के बिलों में होने वाली गड़बड़ी से भी बचा जा सकेगा। 

Author

  • Srajan Thakur

    मेरा नाम सृजन है और मुझे लिखना काफी पसंद है। मैं एक जिज्ञासु वक्तितित्व का हूँ इसलिए मैं सम्पूर्ण विषयों के ऊपर लेख लिखने में सक्षम हूँ। में एक पूर्ण रूप से लेखक कहलाता हूँ।

Leave a Comment

Your Website