केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट, अब कभी नहीं होगा बैंक खाता खाली, अपनाएं यह तरीका

लगातार साइबर क्राइम को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में एक अपडेट जारी किया है, जिससे आपके बैंक अकाउंट को पहले से ज्यादा अधिक सुरक्षित बनाया जा सकता है और धोखाधड़ी के मामलों से भी बचा जा सकता है। क्या है केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी यह अलर्ट! जानने के लिए पढ़ते रहिए अपन कल की है खबर।

वैसे तो साइबर क्राइम करने वाली अपराधी हर बार नया-नया तरीका अपनाते हैं ताकि वह अपने जाल में लोगों को आसानी से फंसा सके। लेकिन आपको भी अपनी तरह से सतर्क रहना है ताकि कोई भी अपराधी आपको आसानी से जाल में ना फसा पाए। लेकिन इसके लिए जरूरी हो जाता है आपका इन सभी अपराधों के बारे में जानना ताकि आप भविष्य के लिए अधिक सुरक्षित रहें।

साईबर क्राइम के संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय का अलर्ट

केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से साइबर क्राइम को देखते हुए चिंता जाहिर की गई और एक अलर्ट जारी किया गया है। क्योंकि हाल ही में हुए अपराधों में बैंक अकाउंट को पूरी तरह से खाली कर दिया जाता है इसलिए केंद्रीय मंत्रालय द्वारा जारी इस अलर्ट को जाना काफी जरूरी है ताकि आप भी सुरक्षित रहें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्कैम का नया तरीका सार्वजनिक किया है। और जानकारी देते हुए कहा कि इस नए स्कैन में मोबाइल फोन पर एक नंबर डायल कराया जाता है और जैसे ही आप इस नंबर को अपने मोबाइल फोन से डायल करते हैं आप साइबर क्राइम का शिकार हो जाते हैं। कभी-कभी आपको कॉल करके भी यह बोला जाता है कि आप यह नंबर *401#7787….34 या इससे मिलता जुलता अन्य नंबर डॉयल करने को बोला जाता है। और इस परिस्थिति में आपको सतर्क रहना है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सतर्क रहना को कहा

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी अलर्ट में आपसे यह स्पष्ट कहा गया है कि आप किसी भी अंजनी कॉल में ओटीपी शेयर ना करें और अगर आपसे किसी भी तरह का मोबाइल नंबर डायल करने के लिए कहा जाता है तो बिल्कुल ना करें क्योंकि सरकार द्वारा कभी भी आपको कॉल नहीं किया जाता और इस तरह का नंबर अपने फोन से डायल करने के लिए नहीं बोला जाता है।

अगर भविष्य में भी आपको इस तरह का नंबर या ओटीपी कॉल में मांगा जाता है तो आप बिल्कुल भी शेयर ना करें और अगर आपसे VPN एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए बोला जाता है तो भी बिल्कुल ना करें। क्योंकि इससे आपका सारा मोबाइल का डाटा चोरी हो जाता है। तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें – मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना की 9वीं किस्त को लेकर आया अपडेट, देखें क्या है खास

साइबर क्राइम होने पर इस तरह करें रिपोर्ट दर्ज

अगर आप  साइबर क्राइम का शिकार हो जाते हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आपको सबसे पहले सरकार द्वारा जारी ऑनलाइन साइबर क्राइम के पोर्टल पर रिपोर्ट दर्ज करनी है। आपको इस बात का ध्यान रखना कि इंटरनेट यूजर्स यहां पर किसी भी तरह के साइबर क्राइम की रिपोर्ट कर सकते हैं और अगर बच्चों और महिलाओं के खिलाफ भी अगर साइबर क्राइम होता है तो इसकी भी रिपोर्ट आप यहां पर कर सकते हैं।

साइबर क्राइम की रिपोर्ट दर्ज करने के लिए आप साइबर क्राइम ऑनलाइन पोर्टल https://cybercrime.gov.in/ के मदद ले सकते हैं इसके अलावा एक डेडीकेटेड हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है। जो कि 1930 है। तो इस नंबर पर कॉल करके भी आप साइबर क्राइम से संबंधित रिपोर्ट दर्ज कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें – आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों के लिए बुरी खबर, अब प्राइवेट अस्पतालों में नहीं होगा ईलाज

Author

Leave a Comment

Your Website