MP News: लाडली बहनों के बाद अब बेटियों की बारी, मुख्यमंत्री मोहन यादव ने प्रदेश की बेटियों को दिए 55 हजार रुपये

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जनता के हित में अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है जिसका लाभ राज्य की किसानों , युवाओं, बेटियों और महिलाओं को मिलता है। हाल ही में मध्य प्रदेश में लाडली बहनों को दसवीं किस्त की राशि ट्रांसफर की गई लेकिन उसके पहले मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने सीएम कन्या विवाह के अंतर्गत राज्य की बेटियों को 55000 रुपए ट्रांसफर किए।

कन्या विवाह योजना से मिलते हैं 55 हजार रुपए

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत वधु को 55000 रुपए की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है जिसमें 49000 रुपए का चेक दिया जाता है एवं बकाया राशि सामूहिक विवाह के उपरांत खर्च की जाती है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने हेतू आप ऑनलाइन पोर्टल mpvivahportal.nic.in/ की मदद से आवेदन कर सकते हैं या अपनी पंचायत या जनपद पंचायत में जाकर संपर्क कर सकते हैं।

बीते गुरुवार को मोहन यादव ने कराया सामूहिक विवाह

बीती गुरुवार को मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने मध्य प्रदेश की सीहोर जिले की आष्टा कस्बे में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन संपन्न कराया। मुख्यमंत्री जी ने सामूहिक विवाह में 927 जोड़ों का विवाह और 179 मुस्लिम जोड़ों का निकाह कराया।

सीएम मोहन यादव जी ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत अयोजित सामूहिक विवाह में उपस्थित होकर वर वधु को आशिर्वाद दिया। और मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस तरह सामूहिक विवाह सम्मेलन से पैसों की बचत होती है। और इन पैसों का उपयोग हम अपने बच्चों के भविष्य की योजनाओं के लिए कर सकते हैं। मुख्यमंत्री जी ने आगे कहा कि दो दिन पहले ही मैंने अपने पुत्र का विवाह कराया जिसमें सिर्फ 200 अतिथियों को ही आमंत्रित किया था।

यह भी पढ़ें – मध्य प्रदेश सरकार ने बनाई कार्ययोजना, आचार संहिता से पहले सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा बढ़ा हुआ DA

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री जी ने बताया कि राज्य सरकार कन्याओं के विवाह हेतु आर्थिक सहायता राशि प्रदान करती है जिससे बेटियों की शादी में मां-बाप को किसी भी तरह का कर्ज नहीं लेना पड़ता। मुख्यमंत्री मोहन यादव जी ने कन्या विवाह योजना के प्रति लोगों को जागरूक किया और कहा कि हमें इसी तरह से समूह विवाह करना चाहिए ताकि पैसे की बचत हो और इन पैसों का उपयोग हम बच्चों के बेहतर भविष्य में कर सकें।

यह भी पढ़ें – मध्यप्रदेश सरकार ने कैबिनेट में लिए अहम फैसले, 6 जिलों को मिली बड़ी सौगातें यहाँ चलेगी नई 552 ई-बसें

Author

Leave a Comment

Your Website