मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना समग्र आईडी की प्रक्रिया रातों रात बदली, देखें क्या है पूरा मामला

माध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाडली बहना योजना की शुरुआत की जिसमें सभी पात्र महिलाओं को प्रति माह 1 हजार रूपए और सालाना 12 हजार रुपए दिए जाएंगे। लेकिन यह लाभ सिर्फ मध्यप्रदेश की महिलाएं ले सकती हैं।

अन्य राज्यों की महिलाओं ने कर दिया आवेदन

मध्यप्रदेश की लाडली बहना योजना में कई जिलों में ऐसे मामले भी सामने आए जिसमे अन्य राज्यों की महिलाओं ने समग्र आईडी में नाम दर्ज करवा कर लाडली बहना योजना के लिए आवेदन कर दिया है। हालाकि इसमें कुछ ऐसी महिलाएं भी शामिल है जिनका विवाह मध्यप्रदेश के बाहर किसी अन्य राज्य में हुआ है और उनका नाम यहां से नही काटा गया है।

आपको बता दें कि लाडली बहना योजना का लाभ सिर्फ 23 वर्ष से 60 वर्ष की महिलाओं को मिलेगा जिनके पास समग्र आईडी और मध्य प्रदेश की निवाशिता है। अन्य राज्यों के लिए यह योजना लागू नहीं की गई है। लेकिन अन्य राज्यों की महिलाओं ने समग्र आईडी में अपना नाम दर्ज करा कर इस योजना के लिए आवेदन कर दिया है। और इस वजह से समग्र आईडी बनाने, नाम दर्ज करने या फिर किसी भी तरह के परिवर्तन के लिए नियमों में बदलाव किया गया है जिसके बारे में हमने नीचे विस्तर से बताया है।

समग्र आईडी बनवाने के नियमों में बदलाव

लाडली बहना योजना का लाभ किसी अन्य राज्य की महिलाओं को ना मिल पाए इस वजह से रातों रात समग्र बनवाने की प्रक्रिया में परिवर्तन कर दिया गया है। अब समग्र आईडी बनाने के लिए आपको समग्र पोर्टल में ऑनलाइन रिक्वेस्ट करनी होगा। और फिर इस रिक्वेस्ट को वार्ड कार्यालय में जाकर वेरीफाई कराना होगा।

यह भी पढ़ें – लाड़ली बहना योजना E-kyc अनिवार्य, लिस्ट में नाम आने के बाद आवेदन की E-kyc जरूर करवा लें

ऐसे भी मामले सामने आए जिनमे कई लोगों ने समग्र बनवाने के लिए MP Online पर संपर्क कर लिया और अब इसके लिए उन्हें पैसे भी देने पड़ रहें है। आपको बता दें की मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 30 लाख सदस्यों की समग्र आईडी बनाई जा चुकी है।

अधिकारिक तौर पर 16 मार्च से ही समग्र आईडी बनना बंद कर दिए गए थे। और फिर सभी नगरीय निकायों पर समग्र बनाने की प्रक्रिया में परिवर्तन कर दिया गया था। समग्र आईडी में जेनरेट करने के बाद वार्ड कार्यालय में वेरीफाई करना होगा जिससे डैशबोर्ड में नजर आने लगेगी लेकिन अन्तिम अप्रूवल कलेक्टर ऑफिस के अप्रूवल से ही होगा। और यह प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद ही समग्र आईडी संबंधित परिवार को दी जायगी।

आपको बता दें की पहले समग्र आईडी जेनरेट करने की प्रक्रिया बेहद सरल थी लेकिन लाडली बहना योजना में अन्य राज्य की महिलाओं के आवेदन के बाद से समग्र पोर्टल में यह नियमों को बदला गया है। आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि 23 वर्ष से 60 वर्ष की महिलाओं के समग्र आईडी का अप्रूवल कलेक्टर ऑफिस द्वारा किया जाएगा। और अगर संबंधित परिवार या कोई सदस्य 23 वर्ष से कम है तो वार्ड कार्यालय द्वारा अप्रूवल मान्य होगा।

यह भी पढ़ें – लाडली बहना योजना बैंक DBT स्टेटस चेक करें और पहली किस्त प्राप्त करें

समग्र आईडी में e-KYC जरूरी

नए नियम के अनुसार आपके समग्र आईडी में किसी भी तरह के परिवर्तन के लिए भी eKYC जरूरी है। अगर आप नाम, पता, जन्मतिथि आदि में परिवर्तन करते है तो पहले आपको eKYC कराना जरुरी है। इसके साथ ही लाडली बहना योजना के आवेदन करने से पहले भी आपको समग्र e-KYC जरुरी था। जिसमे कई महिलाओं ने eKYC करा लिया है। लेकिन अगर आपने अब तक यह नही किया है तो जल्द से जल्द eKYC करा लें।

Author

Leave a Comment

Your Website