लोकसभा चुनाव के पहले बीजेपी ने खेला दाव, अब NDA में शामिल होंगी यह पार्टी

राज ठाकरे एनडीए में शामिल हो सकते हैं। राज ठाकरे की पार्टी एमएनएस राज ठाकरे से मुंबई बीजेपी अध्यक्ष की मुलाकात और जल्द राज ठाकरे को दिल्ली बुलाया जा सकता है। बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से दिल्ली में मुलाकात होगी मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशीष चलार राज ठाकरे में एक घंटे की मुलाकात इनके बीच में हुई है।

एनडीए में राज ठाकरे का शामिल होना संभव

आशीष शेलार और राज ठाकरे अब जल्द दिल्ली भी आ सकते हैं बताया जा रहा है। पिछले कई दिनों से राज ठाकरे से पर्दे के पीछे बातचीत चल रही है। हालांकि राज ठाकरे अभी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस ले रहे हैं। लेकिन खुलकर अभी इस पूरे मामले में गठबंधन को लेकर कुछ बात नहीं कर रहे। थोड़ी देर के बाद आशीष सेलार भी इस मसले पर बात करने वाले हैं। वहीं शिवसेना एकनाथ शिंदे ग्रुप के मंत्री शंभूराज देसाई का भी बयान सामने आ गया है।

राज ठाकरे ने दिल्ली में बीजेपी नेताओं से मुलाकात

अगर राज ठाकरे महायुति के साथ में आते हैं तो 400 का आंकड़ा जो पार करना है। उसमें मदद मिलेगी और महायुति में उनका स्वागत होगा तो कह सकते हैं। कि जो महाराष्ट्र की राजनीति में ये एक बहुत बड़ा कदम होगा। हालांकि राज ठाकरे इसके पहले भी मोदी को समर मोदी के नाम पर अपना समर्थन बीजेपी को दे चुके। लेकिन यह गठजोड़ जो होगा बीजेपी के लिए होगा मोदी के लिए होगा। या सीधे तौर पर महायुति के साथ में आएंगे सीट शेयरिंग जब होगी तो उसमें उनकी हिस्सेदारी होगी।

इस मुलाकात के बाद दिल्ली जाने की संभावना

सिर्फ लोकसभा चुनाव के लिए राज ठाकरे सपोर्ट करेंगे बीजेपी को अभी ये चीजें स्पष्ट नहीं है। लेकिन इसके पहले चूंकि राज ठाकरे लोकसभा का चुनाव लड़े नहीं है। उनके उम्मीदवार तो हो सकता है कि बीजेपी को अपना समर्थन जाहिर कर सकते हैं। जो बीजेपी के लिए कहीं ना कहीं बहुत बड़ी मदद मिलेगी लोकसभा चुनाव में क्योंकि मराठी वोट बैंक मुंबई और महाराष्ट्र, नासिक, पुणा जैसे इलाकों में जहां पर राज ठाकरे का ज्यादा बेस है। वहां पर अगर उद्धव ठाकरे गुट को राज ठाकरे के वोटर निश्चित तौर पर नुकसान पहुंचा सकते हैं। तो इसका जल्द अनाउंसमेंट हो सकता है।

यह भी पढ़ें – मध्य प्रदेश में पर्यावरण सम्मेलन का हुआ आयोजन, सीएम मोहन यादव ने की ये बड़ी घोषणाएं

फर्जी रीडिंग

बीजेपी के साथ दिल्ली विधानसभा का रुक कर रहे हैं। अरविंद केजरीवाल के दौरान जब बहुत महीनों तक मीटर रीडिंग लेने के लिए नहीं गए कई-कई महीनों तक बिल जनरेट नहीं हुए कईयों के बिल रेट हुए तो एवरेज के ऊपर जनरेट कर दिए गए। किसी की फर्जी रीडिंग लिख दी गई कोविड के दौरान इतने लार्ज स्केल के ऊपर प्रॉब्लम हुई वह गलत बिलों इन्फ्लेटेड बिल्स का शिकार है।

यह भी पढ़ें – सरकार ने किया कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि का ऐलान, 1 अप्रैल से मिलेंगे कई लाभ

Author

Leave a Comment

Your Website