Ladli Bahna Yojana: ये सभी लाडली बहनों ने किया लाभ लेने से इंकार, देखें क्या है बड़ी वजह

लाडली बहना योजना के माध्यम से जुड़ने वाली नमहिलाएं ऑनलाइन आवेदन करके 1250 रुपये की राशि नहीं लेना चाहती हैं, इसके लिए महिलाओं ने महिला बाल विकास विभाग के द्वारा ऑनलाइन आवेदन किए हैं। दमोह में एक तरफ जहां लाडली बहना योजना के द्वारा बहनों के 450 रुपये में रसोई गैस सिलेंडर के आवेदन फॉर्म को भरा जा रहा है, उधर दूसरी तरफ दमोह में लाडली बहना योजना के तहत महिलाओं ने योजना का लाभ लेने से इनकार कर दिया है।

लाड़ली बहनों ने किया लाभ परित्याग

सूत्रों के मुताबिक दमोह में 2 लाख 57 हजार 713 महिलाएं लाडली बहना योजना के द्वारा पंजीकृत हैं, इन सभी महिलाओं को शासन की तरफ से 1250 रुपये तीसरी और चौथी किस्त का भुगतान भी हो चुका है। लेकिन दमोह में 200 महिलाओं ने लाडली बहना योजना के द्वारा मिलने वाली धनराशि को त्याग दिया है, और इन सभी महिलाओं ने ऑनलाइन आवेदन लिखकर दे दिया है, कि अब उन्हें योजना के द्वारा मिलने वाली धनराशि का लाभ नहीं लेना हैं।

महिलाओं को शासन की तरफ से कार्यवाही का लग रहा डर

दमोह में लाडली बहना योजना के द्वारा धनराशि ले रही महिलाएं अब ऑनलाइन आवेदन करके योजना के द्वारा मिलने वाली धनराशि को लेने से इंकार कर रही हैं, क्योंकि कुछ दिनों पहले शासन की ओर से केवल उन्हीं महिलाओं को योजना का लाभ दिया जाएगा। जो महिलाएं योजना के लिए पात्र हैं।

इसके साथ ही यह भी आदेश जारी किया गया था कि जो महिलाएं अपात्र हैं, भविष्य में संबंधित क्षेत्र के सचिवों और नगरीय निकाय के नोडल अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जाएगी, यह आदेश जारी होने के बाद संबंधित पोर्टल पर परित्याग का ऑप्शन भी कैटेगरी में रखा गया है, ताकि जो भी महिला योजना का परित्याग करना चाहती है, वह इस ऑप्शन के द्वारा परित्याग कर सकती है।

यह भी पढ़ें – आचार संहिता के बाद नहीं होंगे लाड़ली बहना योजना के आवेदन, सिर्फ 4 से 5 दिनों का समय बाकी

इसके लिए अधिकारियों ने क्या कहा

संजीव मिश्रा जो कि महिला सशक्तिकरण अधिकारी हैं, उनका कहना है कि लाडली बहना योजना के तहत मिलने वाली धनराशि का त्याग महिलाएं क्यों कर रहे हैं, इसके बारे में हमारे पास सही जानकारी नहीं है। क्योंकि यह महिलाओं का निजी मामला भी हो सकता है, इसके अलावा उन्होंने यह भी बताएं कि ऑनलाइन आवेदन करते समय रिजेक्ट का ऑप्शन भी आ रहा है, यह भी महिलाओं द्वारा धनराशि त्याग करने का कारण हो सकता है।

यह भी पढ़ें – बिजली बिल उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खुशखबरी, सरकार ने किया बकाया बिलों को माफ़

Author

Leave a Comment

Your Website