मध्य प्रदेश की 7790 बेटियों को मिली निःशुल्क ई-स्कूटी, देखिये क्या है शिक्षा विभाग की अभिनव योजना

मध्य प्रदेश में 7790 स्कूल की विद्यार्थियों को स्कूटी दी गई है। यह स्कूटी स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा दी गई है जिसमें अभिनव योजना के तहत सभी बेटियों को स्कूटी मिली है। क्या है अभिनव योजना जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करने पर दी गई स्कूटी

स्कूल शिक्षा विभाग ने अभिनव योजना के तहत पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्रतिभाशाली छात्रों को निशुल्क स्कूटी प्रदान की। स्कूल विद्यार्थियों को 2022-23 में अच्छा प्रदर्शन करने पर कुल 7790 स्कूटी वितरित की गई। और यह सभी छात्र सासाकी हायर सेकेंडरी स्कूल में प्रथम स्थान प्राप्त किए हैं और इसी वजह से इन सभी छात्रों को निशुल्क स्कूटी प्रदान की गई।

स्कूल शिक्षा विभाग ने छात्रों का प्रोत्साहन बढ़ाने के लिए स्कूटी वितरित की और इस योजना में कुल 80 करोड रुपए का खर्च आया। आगामी वर्ष 2023-24 में भी अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भी ई स्कूटी प्रदान की जाएगी। ताकि छात्राएं आगे की पढाई भी अच्छे से कर सकें।

स्कूल शिक्षा विभाग ने साइकिल भी प्रदान की

स्कूल शिक्षा विभाग ने अपनी तरफ से वर्ष 2022-23 के विद्यार्थियों को आगे की पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया और प्रोत्साहन हेतु उन्हें 5 लाख 30 हजार साइकिल वितरित की। इस तरह मध्य प्रदेश शासन द्वारा और स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा किए जाने वाले कार्यों से शिक्षा में अच्छा सुधार देखने को मिल सकता है।

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अन्य योजना

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अन्य योजनाएं भी चलाई जा रही है ताकि शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक सुधार किया जाए। इसी तर्ज पर सुपर 100 योजना भी चलाई जा रही है जिसमें कक्षा दसवीं बोर्ड परीक्षा में 70% या उससे ज्यादा लाने वाले विद्यार्थियों को इंदौर में कक्षा 11वीं में 12वीं के अध्ययन के लिए निशुल्क कोचिंग की व्यवस्था भी दी जाती है।

यह भी पढ़ें – राज्य के हजारों सरकारी कर्मियों के लिए बड़ी खुशखबरी, फरवरी से खाते में बढ़कर आएगी सैलरी

शिक्षा विभाग की अभिनव योजना

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अभिनव योजना चलाई जाती है जिसमें शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले राज्य के सभी स्कूलों के टॉपर को फ्री स्कूटी दी जाती है ताकि वह अपने आगे की पढ़ाई आसानी से कर सकें और कॉलेज जाने के लिए किसी पर निर्भर ना रहे।

Author

Leave a Comment

Your Website